UN के स्वतंत्र विशेषज्ञ ने कहा, पत्रकार जमाल खशोगी हत्याकांड से सऊदी युवराज के जुड़े होने के ‘ठोस सबूत’

संयुक्त राष्ट्र की एक स्वतंत्र विशेषज्ञ की रिपोर्ट में कहा गया है कि सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी (Jamal Khashoggi) की पिछले साल अक्टूबर में हुई हत्या से सऊदी अरब के युवराज के जुड़े होने के 'ठोस सबूत' हैं.

UN के स्वतंत्र विशेषज्ञ ने कहा, पत्रकार जमाल खशोगी हत्याकांड से सऊदी युवराज के जुड़े होने के ‘ठोस सबूत’

जमाल की इस्तांबुल में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में कथित तौर पर हत्या कर दी गई थी.

नई दिल्ली :

संयुक्त राष्ट्र की एक स्वतंत्र विशेषज्ञ की रिपोर्ट में कहा गया है कि सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी (Jamal Khashoggi) की पिछले साल अक्टूबर में हुई हत्या से सऊदी अरब के युवराज के जुड़े होने के 'ठोस सबूत' हैं. विश्व निकाय की न्याय से इतर हत्या मामलों की विशेष प्रतिनिधि एग्नेस कल्लामार्ड ने कहा कि वह इस पर दृढ़ हैं कि ठोस सबूत है जिससे युवराज सहित सऊदी अरब के उच्चाधिकारियों की व्यक्तिगत जवाबदेही की आगे जांच जरूरी हो जाती है. संयुक्त राष्ट्र विशेषज्ञ ने खशोगी हत्याकांड को लेकर सऊदी युवराज के खिलाफ ‘‘लक्षित प्रतिबंधों'' का आह्वान भी किया है. आपको बता दें कि जमाल खशोगी चर्चित पत्रकार थे. जमाल की इस्तांबुल में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में कथित तौर पर हत्या कर दी गई थी. जमाल खशोगी का जन्म 13 अक्टूबर 1958 को सऊदी (Saudi Arabia) के धार्मिक शहर मदीना में हुआ था. 

Newsbeep

पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या का मामला, शव के टुकड़े बैग में ले जाते दिखे लोग, देखें- CCTV Footage

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जमाल की शुरुआती शिक्षा सऊदी में ही हुई थी. उन्होंने 1983 में अमेरिका की इंडिआना विश्वविद्यालय से अपनी पढ़ाई पूरी की, जिसके बाद वे पत्रकारिता के क्षेत्र में आ गए. जमाल खाशोगी, डोडी फयाद के चचेरे भाई थे. फयाद, प्रिंसेज डायना के ब्‍वॉयफ्रेंड थे जिनकी मौत डायना के ही साथ पेरिस में हुए एक कार क्रैश में हो गई थी. अफगानिस्तान में सोवियत संघ की सेनाओं और मुजाहिदीनों के बीच हुए संघर्ष की रिपोर्टिंग करने के चलते जमाल पहली बार सुर्खियों में आए थे. जमाल खशोगी को 2003 में सऊदी अरब के सबसे चर्चित अखबार अल-वतन का संपादक चुना गया. लेकिन अपने क्रांतिकारी विचारों के चलते वे इस पद पर नहीं टिक सके थे. (इनपुट- भाषा)