NDTV Khabar

ब्रिक्स सम्मेलन : पीएम नरेंद्र मोदी बोले- एकजुट रहने पर शांति और विकास संभव

ब्रिक्स सम्मेलन में पीएम मोदी ने आगे का कि ब्रिक्स में पांचों देश एक बराबर हैं. ब्रिक्स बैंक ने कर्ज देना शुरू किया है, इससे पांच सदस्य देशों को फायदा होगा.

119 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
ब्रिक्स सम्मेलन : पीएम नरेंद्र मोदी बोले- एकजुट रहने पर शांति और विकास संभव

ब्रिक्स सम्मेलन में पीएम नरेंद्र मोदी

खास बातें

  1. डोकलाम विवाद सुलझने के बाद पीएम मोदी चीन पहुंचे
  2. शांति और विकास के लिए सहयोग जरूरी : पीएम मोदी
  3. भारत काले धन के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है
बीजिंग: पांच देशों के नेताओं की सामूहिक तस्वीरें लिए जाने के साथ ही यहां ब्रिक्स शिखर सम्मेलन शुरू हो गया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने पूरी गर्मजोशी के साथ हाथ मिलाए. ब्रिक्स की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि शांति और विकास के लिए सहयोग जरूरी है. एकजुट रहने पर शांति और विकास संभव है. उन्होंने कहा कि हमारे देश का युवा होना हमारी सबसे बड़ी ताकत है. भारत ने काले धन के खिलाफ जंग छेड़ी है. गरीबी से लड़ने के लिए स्वच्छता अभियान चलाया. हम स्वास्थ्य, शिक्षा और स्वच्छता का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं. पीएम मोदी ने आगे का कि ब्रिक्स में पांचों देश एक बराबर हैं. ब्रिक्स बैंक ने कर्ज देना शुरू किया है, इससे पांच सदस्य देशों को फायदा होगा.

वहीं शी चिनफिंग ने कहा कि हम सभी देशों के एक ही आवाज में सभी की समस्याओं को लेकर बोलना चाहिए, ताकि विश्व में शांति और विकास आगे बढ़ सके. मौजूदा समय में दुनिया के हालात को देखते हुए, ब्रिक्स देशों की जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है. चिनफिंग ने सम्मेलन शुरू होने से पहले ब्राजील, रूस और दक्षिण अफ्रीका के नेताओं की अगवानी की. नौवां ब्रिक्स शिखर सम्मेलन चीन के इस बंदरगाह शहर श्यामन के कन्वेशन सेंटर में हो रहा है और मोदी यहां पहुंचने वाले तीसरे नेता थे. उनके बाद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यहां पहुंचे. 

प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई है कि गोवा शिखर सम्मेलन से निकले रास्ते पर आगे बढ़ने के लिए इस बैठक में कुछ सकारात्मक बातचीत होगी और बेहतर नतीजे आएंगे. इस बैठक से अलग पीएम मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच द्विपक्षीय बातचीत होगी. ब्राज़ील के साथ भी आज ही द्विपक्षीय बातचीत होनी है. चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ पीएम मोदी की द्विपक्षीय बातचीत होगी. जहां हाल के दिनों में दोनों देशों में तनाव के बीच रिश्ते बेहतर करने पर बात होगी.

पीएम मोदी ब्रिक्स समिट में भाग लेने के लिए चीन पहुंचे, चिनफिंग से मुलाकात पर सबकी निगाहें- 10 खास बातें

दोनों नेताओं के बीच यह मुलाकात ऐसे समय में होने की संभावना है, जब करीब एक हफ्ते पहले भारत और चीन ने 73 दिन तक डोकलाम मुद्दे पर कायम रहे गतिरोध को सुलझाने की घोषणा की. इससे पहले चीन में पीएम का शानदार स्वागत किया. पीएम ने यहां रहने वाले भारतीयों के साथ गर्मजोशी से मुलाकात की. ब्रिक्स की बैठक के बाद प्रधानमंत्री मंगलवार को म्यांमार के तीन दिन पर रवाना हो जाएंगे.

ब्रिक्स सम्मेलन में पाकिस्तान के आतंकवाद विरोधी रिकॉर्ड पर चर्चा के खिलाफ है चीन

इससे पूर्व चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने रविवार को नौवें ब्रिक्स सम्मेलन का उद्घाटन किया. इस मौके पर शी चिनफिंग ने ब्रिक्स के सदस्य देशों से अपने मतभेद दूर करने, आपसी विश्वास और रणनीतिक संवाद बढ़ाकर एक-दूसरे की चिंताओं पर ध्यान देने को कहा. ब्रिक्स बिज़नेस फ़ोरम का उद्घाटन करते हुए चीनी राष्ट्रपति ने कहा कि सदस्य देशों को सभी तरह के आतंकवाद से लड़ने के लिए एक समग्र रुख़ अपनाना चाहिए आतंकवाद की मूल वजहों का हल निकालना चाहिए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement