NDTV Khabar

'परस्पर विश्वास की कमी' के कारण हुआ डोकलाम विवाद : चीन

भारत और चीन के सैनिकों के बीच पिछले साल सिक्किम के पास डोकलाम इलाके में तनातनी हुई थी और दो महीने से ज्यादा समय तक गतिरोध बना रहा था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'परस्पर विश्वास की कमी' के कारण हुआ डोकलाम विवाद : चीन

चीन की तरफ से यह बयान पीएम मोदी के दौरे से ठीक पहले आया है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. सीमा विवाद को हल करने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत
  2. पिछले साल सिक्किम के पास डोकलाम इलाके में तनातनी हुई थी
  3. पीएम मोदी और शी चिनफिंग की मुलाकात इसी हफ्ते होने वाली है
बीजिंग: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच इस हफ्ते होने वाली अनौपचारिक शिखर वार्ता से पहले चीन के एक शीर्ष राजनयिक ने कहा कि डोकलाम विवाद भारत और चीन के बीच 'परस्पर विश्वास की कमी' के कारण हुआ. उन्होंने साथ ही कहा कि दोनों देशों को अनुकूल परिस्थितियां तैयार करने एवं धीरे-धीरे सीमा विवाद का हल करने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है.

यह भी पढ़ें :  रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण चीन रवाना, डोकलाम विवाद के बाद रिश्तों पर जमी बर्फ पिघल सकती है

भारत और चीन के सैनिकों के बीच पिछले साल सिक्किम के पास डोकलाम इलाके में तनातनी हुई थी और दो महीने से ज्यादा समय तक गतिरोध बना रहा था. उप विदेश मंत्री कोंग ने डोकलाम विवाद के बारे में पूछे जाने पर मीडिया से कहा, 'पिछले साल (डोकलाम में) सीमा पर हुई घटना से एक तरह से दोनों देशों के बीच परस्पर विश्वास की कमी का पता चलता है.'

यह भी पढ़ें :  चीन के आक्रामक रवैये पर भारत सतर्क, तिब्बत सीमा पर सैनिकों की तैनाती बढ़ाई

यह पूछे जाने पर कि क्या बातचीत में डोकलाम मुद्दा और सीमा विवाद का मुद्दा भी उठेगा, कोंग ने कहा कि दोनों नेताओं ने अनौपचारिक शिखर वार्ता करने का फैसला इसलिए नहीं किया कि सीमा से जुड़े सवाल अब भी अनसुलझे हैं. साथ ही अनौपचारिक शिखर वार्ता के दौरान हमें इसके बारे में बात करने की जरूरत है, बल्कि इसलिए क्योंकि दोनों देश विदेश रणनीति में एक दूसरे को बेहद महत्व देते हैं.' 

यह भी पढ़ें :  चीन ने फिर चेतावनी दी, डोकलाम गतिरोध से सबक सीखे भारत

भारत-चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा के करीब 3,488 किलोमीटर लंबे हिस्से पर विवाद है. दोनों देश इसके हल के लिए विशेष प्रतिनिधियों के बीच 20 चरणों की बातचीत कर चुके हैं. कोंग ने कहा, 'साफ तौर पर सीमा से जुड़ा सवाल महत्वपूर्ण हैं. दोनों देशों को अनुकूल परिस्थितियां तैयार करने के लिए मिलकर काम करना होगा और धीरे-धीरे इसका हल करना होगा. सीमा विवाद के उचित समाधान से दोनों देशों के बीच सहयोग एवं परस्पर समझ गहरा होगी और आपसी विश्वास बढ़ेगा.'

टिप्पणियां
VIDEO : भारत-चीन सीमा पर हालात सामान्य


उन्होंने कहा कि भारत और चीन को परस्पर विश्वास बढ़ाने के लिए और ज्यादा प्रयास करने की जरूरत है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement