NDTV Khabar

डोनाल्ड ट्रंप का आरोप - सीरिया में केमिकल हमले के लिए ओबामा प्रशासन जिम्मेदार

172 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
डोनाल्ड ट्रंप का आरोप - सीरिया में केमिकल हमले के लिए ओबामा प्रशासन जिम्मेदार

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

वाशिंगटन: पश्चिमोत्तर सीरिया के इदलिब प्रांत में मंगलवार को हुए भीषण रासायनिक हमले में कम से कम 100 लोगों की मौत हो गई, जिनमें कई बच्चे भी शामिल हैं. इसके अलावा 400 से अधिक लोग घायल हुए हैं. चिकित्सा सेवा से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक-मृतकों की संख्या और बढ़ने की आशंका है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया में संदिग्ध रासायनिक हमले को ‘निंदनीय’ बताते हुए आरोप लगाया है कि इस तरह के कृत्य ओबामा प्रशासन की कमियों का परिणाम हैं. ट्रंप ने एक बयान में कहा, महिलाओं और बच्चों सहित निर्दोष लोगों के खिलाफ सीरिया में मंगलवार को हुआ रासायनिक हमला निंदनीय है और सभ्य दुनिया इसे नजरअंदाज नहीं कर सकती. उन्होंने कहा, बशर अल-असद शासन का यह नृशंस कृत्य पिछले प्रशासन की कमियों और हिचकिचाहट का परिणाम है. राष्ट्रपति ने दावा किया कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने 2012 में कहा था कि वह रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल के खिलाफ कदम उठाएंगे लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया. (सीरिया में भीषण केमिकल अटैक में कम से कम 100 लोगों की मौत, 400 घायल)

उन्होंने कहा कि इस तरह के हमले की निंदा करने के लिए अमेरिका दुनिया में अपने सहयोगियों के साथ खड़ा है. इससे पहले ट्रंप को राष्ट्रीय सुरक्षा दल ने कल सीरिया के खान शेखू शहर में हुए हमले की जानकारी दी. इस हमले में दर्जनों लोगों को श्वास संबंधी परेशानी, उल्टी और बेहोशी जैसी दिक्कत हुई.

हमले के बाद अमेरिका की आगे की कार्रवाई पर बात करते हुए व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने कहा कि अमेरिका इस बारे में बहुत स्पष्ट होना चाहता है कि वह कहां खड़ा है. पूरे यूरोप में देश यह स्पष्ट करने की कोशिश कर रहे हैं कि उनकी क्या स्थिति है. उन्होंने कहा, मैं मानता हूं कि इस समय मैं अगले कदम के बारे में बात करने के लिए तैयार नहीं हूं लेकिन हम जल्द ही ऐसा करेंगे. जब उनसे पूछा गया कि क्या वह चाहते हैं कि सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद पद छोड़ दें या सत्ता से बाहर कर दिए जाएं, स्पाइसर ने कहा कि यह सीरियाई लोगों के हित में होगा कि इस तरह की नृशंस कार्रवाई करने वाला कोई सत्ता में न हो. (इनपुट्स भाषा से)

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement