मध्य एशिया और भारत में भूकम्प के झटके

खास बातें

  • मध्य एशियाई देश ताजिकिस्तान में तड़के आए भूकम्प के बाद पाकिस्तान के कुछ शहरों और भारत के जम्मू एवं कश्मीर में भी झटके महसूस किए गए।
इस्लामाबाद/श्रीनगर:

मध्य एशियाई देश ताजिकिस्तान में सोमवार तड़के आए भूकम्प के बाद पाकिस्तान के कुछ शहरों और भारत के जम्मू एवं कश्मीर में भी इसके झटके महसूस किए गए। ताजिकिस्तान में भूकम्प की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.0 मापी गई। चीन के भूकम्प नेटवर्क केंद्र के अनुसार इस भूकम्प का केंद्र करीब 90 किलोमीटर की गहराई पर था। इसके बाद कश्मीर घाटी में भी भूकम्प के झटके महसूस किए गए। इनकी वजह से लोगों में दहशत फैल गई। स्थानीय मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया, "भूकम्प की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.1 मापी गई है। भूकम्प के झटके 8.15 बजे महसूस किए गए।" अधिकारी ने बताया, "भूकम्प का केंद्र ताजिकिस्तान में 38.4 उत्तरी अक्षांश और 72.2 पूर्वी देशांतर में था। घाटी में इसका असर मध्यम होने की वजह से अब तक जानमाल के किसी किस्म के नुकसान की कोई खबर नहीं मिली है।" भूकम्प के झटकों के कारण कई स्थानीय लोग घर से बाहर आ गए। उत्तरी कश्मीर के गांदेरबल जिले में रहने वाले अब्दुल माजिद ने बताया, "भूकम्प के झटके की वजह से मेरा बिस्तर हिलने लगा और मैं घबराकर घर से बाहर निकल आया।" उधर, पाकिस्तान में भी इस्लामाबाद, रावलपिंडी और पेशावर शहरों की धरती हिलने लगी। भूकम्प की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.3 मापी गई है। समाचार पत्र एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने अमेरिकी भूसर्वेक्षण विभाग के हवाले से खबर दी है कि भूकम्प का केंद्र ताजिकिस्तान के काराकुल क्षेत्र से 95 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम में था। इससे पहले गत 19 जनवरी को पाकिस्तान के दक्षिण-पश्चिम हिस्से में 7.2 तीव्रता का भूकम्प आया था। इसमें मामूली नुकसान हुआ था।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com