NDTV Khabar

भूकंप के तेज झटके से सहमा पापुआ न्यू गिनी, 7.2 तीव्रता के भंकूप से लोगों में दहशत

पापुआ न्यू गिनी में मंगलवार को 7.2 तीव्रता का भूकंप आया. हालांकि इसका केंद्र काफी गहराई में होने की वजह से किसी गंभीर जान-माल के नुकसान की तत्काल कोई खबर नहीं है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भूकंप के तेज झटके से सहमा पापुआ न्यू गिनी, 7.2 तीव्रता के भंकूप से लोगों में दहशत

प्रतीकात्मक तस्वीर

पोर्ट मोरेस्बी:

पापुआ न्यू गिनी में मंगलवार को 7.2 तीव्रता का भूकंप आया. हालांकि इसका केंद्र काफी गहराई में होने की वजह से किसी गंभीर जान-माल के नुकसान की तत्काल कोई खबर नहीं है. अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण ने बताया कि भूकंप का केंद्र बुलोलो शहर से करीब 30 किलोमीटर दूर जमीन से 127 किलोमीटर नीचे था. 

मंगल पर आया पहली बार 'भूकंप', NASA के रोबोटिक लैंडर ने किया खुलासा

अंतरराष्ट्रीय समयनुसार यह सोमवार को रात नौ बजकर 15 मिनट पर आया. इसके झटके 250 किलोमीटर दूर स्थित राजधानी पोर्ट मोरेस्बी तक महसूस किए गए. अधिकारियों ने बताया कि बड़े नुकसान की तुरंत खबर नहीं है और भूकंप की गहराई की वजह से सुनामी का खतरा भी नहीं है.

भूकंप के तेज झटके से सहमा अरुणाचल प्रदेश और नेपाल, काठमांडू में एक बाद एक झटके से डरे लोग


बुलोलो पुलिस थाने के कमांडर निरीक्षक लियो केकस ने बताया कि हमें अब तक गंभीर नुकसान की कोई खबर नहीं मिली है. उन्होंने कहा कि हम अब भी स्थिति को देख रहे हैं. भूकंप के केंद्र से 100 किलोमीटर दूर स्थित ले इलाके के निवासियों ने बताया कि भूकंप की वजह से सामान हिलने लगा और कुछ इलाकों में बिजली गुल हो गई. 

टिप्पणियां

भूकंप आए तो क्या करें, क्या न करें

भूकंप आने के वक्त यदि आप घर से बाहर हैं तो ऊंची इमारतों, बिजली के खंभों आदि से दूर रहें. जब तक झटके खत्म न हों, बाहर ही रहें. चलती गाड़ी में होने पर जल्द गाड़ी रोक लें और गाड़ी में ही बैठे रहें. ऐसे पुल या सड़क पर जाने से बचें, जिन्हें भूकंप से नुकसान पहुंचा हो. भूकंप आने के वक्त यदि आप घर में हैं तो फर्श पर बैठ जाएं. मज़बूत टेबल या किसी फर्नीचर के नीचे पनाह लें. टेबल न होने पर हाथ से चेहरे और सिर को ढक लें. घर के किसी कोने में चले जाएं और कांच, खिड़कियों, दरवाज़ों और दीवारों से दूर रहें. बिस्तर पर हैं तो लेटे रहें, तकिये से सिर ढक लें. कमज़ोर सीढ़ियों का इस्तेमाल न करें, आमतौर पर इमारतों में बनी सीढ़ियां मज़बूत नहीं होतीं. झटके आने तक घर के अंदर ही रहें और झटके रुकने के बाद ही बाहर निकलें. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement