लंदन की अंडरग्राउंड ट्रेन में धमाका, पुलिस ने कहा- यह आतंकी घटना

लंदन के सबवे स्टेशन पारसंस ग्रीन स्टेशन पर धमाके की खबर है. इसमें कुछ लोगों के घायल होने की भी खबर है.

लंदन की अंडरग्राउंड ट्रेन में धमाका, पुलिस ने कहा- यह आतंकी घटना

लंदन की अंडरग्राउंड ट्रेन में धमाका

खास बातें

  • लंदन की अंडरग्राउंड ट्रेन में धमाका
  • पुलिस ने धमाके को आतंकी घटना बताया
  • कई लोगों के घायल होने की खबर
लंदन:

ब्रिटेन की राजधानी लंदन तकी अंडरग्राउंड ट्रेन में धमाका हुआ है. धमाका पारसंस ग्रीन स्टेशन पर हुआ. यह इलाका साउथ वेस्ट लंदन में आता है. इस धमाके में कई लोगों के घायल होने की खबर है. पुलिस ने इसे आतंकी घटना बताया है. लंदन में अंडरग्राउंड ट्रेन के ट्यूब ट्रेन कहा जाता है और यह आम लोगों की आवाजाही के लिए एक प्रमुख साधन है.फिलहाल इस रूट की ट्रेन सेवा बाधित है. स्टेशन को खाली करवा लिया गया है. तलाशी अभियान जारी है. 

पकड़ा गया अहमदाबाद में 2008 में हुए बम धमाके का मास्टर माइंड आतंकी तौसीफ खान
 

parsons green bucket afp

लंदन के समय के मुताबिक- धमाका 8.21 AM पर हुआ. धमाके के वक्त लोगों के स्कूल और दफ्तर जाने का समय था, इस वजह वहां भीड़ थी. एक प्लास्टिक की बाल्टी नुमा चीज में यह धमाका हुआ. हालांकि यह धमाका कम तीव्रता का था, लेकिन इसमें कई लोगों के घायल होने की सूचना मिली है.

1993 मुंबई बम धमाका : 12 मार्च से लेकर 7 सितंबर तक का सिलसिलेवार ब्योरा...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

एसोसिएटेड प्रेस (एपी) का कहना है कि लंदन पुलिस और एंबुलेंस सेवा ने सबवे में हुई घटना की पुष्टि की है. ‘दि इंडिपेंडेंट’की खबर के अनुसार, ट्रांसपोर्ट फॉर लंदन (टीएफएल) का कहना है कि ‘सुरक्षा अलर्ट’के कारण डिस्ट्रिक्ट लाइन पर यातायात अस्थाई रूप से निलंबित रहा. शहर की डिस्ट्रिक्ट लाइन पारसंस ग्रीन स्टेशन भी प्रभावित हुआ. माना जा रहा है कि एक बोगी में सुपरमार्केट के प्लास्टिक बैग में रखी प्लास्टिक की बाल्टी में हुए विस्फोट से कई लोग घायल भी हुए हैं.

मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने टि्वटर पर लिखा है, हमें सोशल मीडिया पर चल रही #पारसंस ग्रीन स्टेशन की खबर है. जब संभव होगा, हम सूचनाएं साझा करेंगे--- हमारी सूचनाएं सच होनी चाहिए. विस्फोट की प्रकृति अभी तक ज्ञात नहीं है. मेट्रोपॉलिटन पुलिस बम निरोधक दस्ता और दमकल विभाग एंबुलेंस के साथ मौके पर पहुंच गए हैं. स्टेशन के बाहर मौजूद प्रत्यक्षदर्शी दुकानदारों का कहना है कि उन्होंने कुछ चोटिल लोगों को देखा. कई लोगों को पुलिस से हरी झंडी मिलने तक दुकानें बंद रखने को कहा गया है. (इनपुट्स भाषा से भी)