FB की AI यूनिट की रिसर्च : पहले से पता चल जाएगा किस कोरोना मरीज को कैसी स्वास्थ्य सुविधा की जरूरत

फेसबुक ने दो AI मॉडल्स विकसित किए हैं, जो दो तरीके के एक्स-रेज़ के हिसाब से कोविड-19 मरीज की स्वास्थ्य जरूरतों का पहले से पता लगाते हैं, इससे मरीज के इलाज में आसानी होगी.

FB की AI यूनिट की रिसर्च : पहले से पता चल जाएगा किस कोरोना मरीज को कैसी स्वास्थ्य सुविधा की जरूरत

कोविड मरीजों के इलाज में मदद कर सकती है रिसर्च. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक अपने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस यूनिट की ओर से किया गया एक ऐसा रिसर्च पब्लिश कर रहा है, जिसमें AI के जरिए एडवांस में पता लगाया जाएगा कि किस कोविड-19 मरीज को कैसी स्वास्थ्य सुविधा की जरूरत पड़ सकती है. इस रिसर्च से हेल्थकेयर सिस्टम को कोविड-19 मरीजों का इलाज करने में मदद मिलेगी. आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस यह पता लगाएगा कि मरीज को क्या ज्यादा इंटेंसिव केयर की जरूरत पड़ने वाली है या फिर ऑक्सीजन की जरूरत पड़ने वाली है. और फिर कैलकुलेशन के हिसाब से मरीज के लिए पहले से वो व्यवस्था कर ली जाएगी.

फेसबुक ने हाल ही में अपने एक डिजिटल ब्लॉग पोस्ट में बताया कि उसने दो AI मॉडल विकसित किए हैं, जिनमें से एक छाती के एक्स-रे और दूसरा कई एक्स-रेज़ के आधार पर कैलकुलेशन करेंगे. इस कैलकुलेशन में यह पता लगाया जाएगा कि क्या कोविड-19 मरीज की हालत और खराब होने वाली है क्या. वहीं एक तीसरा मॉडल भी है जो यह बताएगा कि मरीज को कितने ऑक्सीजन की जरूरत पड़ने वाली है.


छाती के एक्स-रे के हिसाब से की गई रिसर्च, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस यूनिट ने NYU Langone Health के Predictive Analytics Unit and Department of Radiology के साथ मिलकर किया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस रिसर्च में सामने आया है कि फेसबुक के AI मॉडल्स ने मरीज के इंटेंसिव केयर की जररूत को चार दिन पहले सही कैलकुलेट कर लिया, जो मानवीय गणना से सामान्यतया बेहतर था.