NDTV Khabar

फेसबुक का बड़ा खुलासा, कहा- 29 मिलियन उपभोक्ताओं के डाटा तक पहुंचे हैकर्स

फेसबुक के अनुसार हैकर्स ने इतनी बड़ी संख्या में डाटा एक्सेस के लिए विशेष सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
फेसबुक का बड़ा खुलासा, कहा- 29 मिलियन उपभोक्ताओं के डाटा तक पहुंचे हैकर्स

प्रतीकात्मक चित्र

सैन फ्रैंसिस्को: सोशल मीडिया साइट फेसबुक ने उपभोक्ताओं के डाटा को लेकर शुक्रवार देर रात एक बड़ा चौकाने वाला खुलासा किया. फेसबुक ने कहा कि उन्हें अभी तक मिली जानकारी के अनुसार हैकर्स ने विश्वभर के 29 मिलियन उपभोक्ताओं के डाटा को एक्सेस किया है. फेसबुक के अनुसार हैकर्स ने यह काम पिछले महीने किया है. विश्व की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्किंग साइट्स में एक फेसबुक ने अपने एक बयान में कहा कि साइबर हमले की वजह से बीते कुछ समय में विश्वभर के 50 मिनियन एकाउंट प्रभावित हुए हैं.

यह भी पढ़ें: फेसबुक ने उपयोगकर्ताओं के डेटा चुराने वाले एप पर लगाई रोक

फेसबुक के अनुसार हैकर्स ने इतनी बड़ी संख्या में डाटा एक्सेस के लिए विशेष सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया है. इस सॉफ्टवेयर के इस्तेमाल से वह खुद ब खुद किसी भी एकाउंट में लॉग इन कर सकता है. फेसबुक के प्रोडक्ट मैनेजमेंट के वाइस प्रेसिडेंट गाय रोसेन ने कहा कि अब हम इस बात की भली-भांति जानकारी है कि कुछ लोग भी आपस में मिलकर इस तरह का बड़ा नुकसान कर सकते हैं. गौरतलब है कि कुछ समय पहले ही फेसबुक ने उपभोक्ताओं के डाटा को सुरक्षित करने के लिए कई कड़े कदम उठाए थे. इन्हीं में से एक था ऐसे एप के खिलाफ कार्रवाई करना जो उपभोक्ताओं के डाटा चोरी करता है.

यह भी पढ़ें: डेटा लीक पर फेसबुक-कैंब्रिज के जवाबों की जांच कर रही सरकार

टिप्पणियां
फेसबुक ने आखिरकार तीसरे पक्ष के एप के खिलाफ कार्रवाई शुरू की थी, जो इजाजत के बिना उसके मंच के साथ-साथ इंस्टाग्राम से उपभोक्ताओं की जानकारियां चुरा, साझा और लीक कर रहे हैं. उस दौरान फेसबुक के डेवलपर द्वारा किए गए एक पोस्ट में फेसबुक ने कहा था कि नए एप फेसबुक पर बतौर उपयोगकर्ता पोस्ट करने में सक्षम नहीं होंगे. फेसबुक के मुताबिक, इनको पोस्ट करने की इजाजत देना अनुचित होगा. इस इजाजत से एप फेसबुक पर बतौर उपयोगकर्ता पोस्ट प्रकाशित करने में सक्षम हो जाते थे.

VIDEO: डेटा को लेकर आपस में उलझे बीजेपी-कांग्रेस.

फेसबुक पोस्ट में कहा गया है, "वह एप जो आज से पहले बने हुए थे, जिन्हें पोस्ट प्रकाशित करने की मंजूरी मिली हुई थी, वह एक अगस्त तक अपने पोस्ट प्रकाशित कर सकते हैं. अब से किसी एप को पोस्ट प्रकाशित करने की इजाजत तबतक नहीं दी जाएगी, जब तक वह एप समीक्षा के माध्यम से नहीं गुजरती.ब्रिटिश राजनीतिक सलाहकार फर्म कैंब्रिज एनालिटिका को फेसबुक क्विज एप द्वारा इकठ्ठा किए गए उपयोगकर्ताओं के डेटा का गलत इस्तेमाल करते हुए पाया गया था. क्विज एप में फेसबुक फीचर के साथ लॉगइन कर इसका उपयोग किया जाता था.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement