Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

अमेरिका ने पाकिस्तान को याद दिलाया, FATF के दायित्वों को पूरा न करना उसके लिए होगा विनाशकारी

अमेरिका के एक शीर्ष राजनयिक ने कहा है कि आर्थिक कार्रवाई कार्य बल (एफएटीएफ) के दायित्वों को पूरा न करने का पाकिस्तान के आर्थिक सुधार कार्यक्रम पर विनाशकारी असर होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमेरिका ने पाकिस्तान को याद दिलाया, FATF  के दायित्वों को पूरा न करना उसके लिए होगा विनाशकारी

एफएटीएफ के दायित्वों को पूरा न करना पाकिस्तान के लिए विनाशकारी होगा: अमेरिका (फाइल फोटो: एलिस वेल्स)

वाशिंगटन:

अमेरिका के एक शीर्ष राजनयिक ने कहा है कि आर्थिक कार्रवाई कार्य बल (FATF ) के दायित्वों को पूरा न करने का पाकिस्तान के आर्थिक सुधार कार्यक्रम पर विनाशकारी असर होगा. दक्षिण और मध्य एशिया के लिए कार्यवाहक सहायक विदेश मंत्री एलिस वेल्स ने शुक्रवार को यह टिप्पणी की. इससे एक दिन पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि देश को FATF की 'ग्रे लिस्ट' से बाहर करना चाहिए क्योंकि उसने आतंकवाद के वित्त पोषण पर नजर रखने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था की आवश्यकताओं पर अहम प्रगति की है. वेल्स ने वाशिंगटन में पत्रकारों से कहा, "जाहिर तौर पर अगर पाकिस्तान FATF के दायित्वों को पूरा नहीं करता है और काली सूची में आता है तो यह पाकिस्तान के आर्थिक सुधार कार्यक्रम और FATF  को आकर्षिक करने की उसकी क्षमता के लिए विनाशकारी होगा." 

पाकिस्तान पर FATF का शिकंजा कसा, 150 सवालों के जवाब 8 जनवरी तक मांगे


इस्लामाबाद समेत क्षेत्र की यात्रा करके हाल ही में लौटी वेल्स ने कहा, 'हम FATF के दायित्वों को पूरा करने की ओर पाकिस्तान की प्रगति को देखकर खुश हैं." वह उस सवाल का जवाब दे रही थी कि अगर पाकिस्तान FATF के नियमनों या नियमों को पूरा नहीं करता है तो क्या अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष द्वारा वित्त पोषण पर असर पड़ सकता है. पाकिस्तान के आर्थिक मामलों के प्रभाग के मंत्री हम्माद अजहर के नेतृत्व वाला पाक प्रतिनिधिमंडल FATF  की सिफारिशों को लागू करने के लिए इस्लामाबाद द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में आर्थिक कार्रवाई बल को जानकारी देने के लिए बीजिंग में है. 

कोई नहीं कह सकता कि पाकिस्तान ने FATF पर अपने वादे को पूरा किया: फ्रांसीसी राजदूत

टिप्पणियां

एफएटीएफ ने गत अक्टूबर में पाकिस्तान को लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद तथा अन्य आतंकवादी समूहों के वित्त पोषण पर लगाम लगाने में नाकामी के लिए उसे 'ग्रे' सूची में डालने का फैसला किया था. अगर वह अप्रैल तक इस सूची से नहीं हटता है तो पाकिस्तान को काली सूची में डाला जा सकता है जिससे गंभीर आर्थिक प्रतिबंधों का सामना करना पड़ सकता है. 

Video: क्या FATF की ब्लैक लिस्ट में जाएगा पाक?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. World News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... स्‍कूल छोड़ने जा रही थी मां, रास्‍ते में याद आया बच्‍चे तो घर पर ही छूट गए, देखें मजेदार Video

Advertisement