NDTV Khabar

अमेरिकी ड्रोन हमलों में पांच आतंकी मरे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमेरिकी ड्रोन हमलों में पांच आतंकी मरे

खास बातें

  1. सीआईए के अभियान के तहत पाकिस्तान के दक्षिणी वजीरिस्तान के कबीलाई इलाके में किए गए ड्रोन हमले में पांच आतंकी मारे गए। इन हमलों में एक मकान को निशान बनाया गया था।
इस्लामाबाद:

अमेरिकी खुफिया एजेंसी (सीआईए) के अभियान के तहत पाकिस्तान के दक्षिणी वजीरिस्तान के कबीलाई इलाके में किए गए ड्रोन हमले में पांच आतंकी मारे गए। इन हमलों में एक मकान को निशान बनाया गया था।

खबरिया टेलीविजन चैनलों ने अधिकारियों के हवाले से बताया कि दक्षिणी वजीरिस्तान एजेंसी के बरमाल इलाके में यह हमला किया गया। मकान पर कई मिसाइलें गिरने के बाद उसमें आग लग गई। मकान में से अब तक पांच लाशें निकाली जा चुकी हैं। अधिकारियों ने बताया कि इन हमलों में तीन लोग घायल हुए हैं और मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है।

23 मई के बाद से अब तक सात ड्रोन हमले किए जा चुके हैं। अमेरिकी और अफगान अधिकारियों के मुताबिक, उत्तरी वजीरिस्तान तालिबान और अल कायदा के लिए एक सुरक्षित जगह माना जाता है। ज्यादातर ड्रोन हमले उत्तरी वजीरिस्तान इलाके में ही हुए हैं।

कल से इन ड्रोन हमलों का निशाना दक्षिणी वजीरिस्तान को बनाया गया है। यह वही इलाका है जहां तीन साल पहले तालिबान के खात्मे के लिए पाकिस्तानी सेना ने एक अभियान चलाया था। शिकागो में हुए नाटो सम्मेलन के तुरंत बाद अमेरिका ने पाकिस्तान में आतंकियों के खिलाफ ड्रोन हमले तेज कर दिए थे।


टिप्पणियां

शिकागो में हुए नाटो सम्मेलन में पाकिस्तान की ओर से छह माह से बंद आपूर्ति मार्ग को खोले जाने के संबंध में कोई घोषणा नहीं करने के चलते सम्मेलन के समापन के बाद अमेरिका ने उसके खिलाफ ड्रोन हमले बढ़ा दिए थे। पिछले साल नवंबर में नाटो के हवाई हमलों में पाकिस्तान के 24 सैनिकों के मारे जाने के बाद से पाकिस्तान ने आपूर्ति मार्ग बंद कर दिए थे।

ड्रोन हमलों ने अमेरिका और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ा दिया है। पाकिस्तान ने इन हमलों को अपनी संप्रभुता का उल्लंघन माना और इन्हें रोकने की मांग की। पिछले साल लाहौर में दो पाक नागरिकों पर गोली चलाकर उन्हें मारने वाले सीआईए ठेकेदार के गिरफ्तार होने के बाद और अबोटाबाद में ओसामा बिन लादेन को मारने की अमेरिका की एकपक्षीय कार्रवाई के बाद अमेरिका ने पाकिस्तानी कबीलाई इलाकों में ड्रोन हमलों को कम कर दिया था।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement