NDTV Khabar

भ्रष्टाचार के आरोप में जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व PM नवाज शरीफ की पत्नी का लंदन में निधन

भ्रष्टाचार के आरोप में जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पत्नी कुलसुम नवाज का लंबी बीमारी के बाद मंगलवार को लंदन में निधन हो गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भ्रष्टाचार के आरोप में जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व PM नवाज शरीफ की पत्नी का लंदन में निधन

कुलसुम नवाज लंबे समय से बीमार थीं. उनका लंदन में इलाज चल रहा था.

खास बातें

  1. पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ की पत्नी का लंदन में निधन
  2. नवाज शरीफ की पत्नी कुलसुम लंबे समय से बीमार थीं
  3. 68 वर्षीय कुलसुम नवाज गले के कैंसर से पीड़ित थीं
लंदन: भ्रष्टाचार के आरोप में जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पत्नी कुलसुम नवाज का लंबी बीमारी के बाद मंगलवार को लंदन में निधन हो गया. वह 68 साल की थीं. पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने यह जानकारी दी.

जियो टीवी की खबर के अनुसार कुलसुम का लंदन के हार्ले स्ट्रीट क्लीनिक में जून 2014 से ही इलाज चल रहा था. मंगलवार की सुबह उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया था. वह गले के कैंसर से पीड़ित थीं और इसकी पहचान अगस्त 2017 में हुई. नवाज शरीफ और उनका विवाह अप्रैल 1971 में हुआ था. 

नवाज शरीफ, उनकी पुत्री मरियम और दामाद कैप्टन (सेवानिवृत्त) मुहम्मद सफदर भ्रष्टाचार के एक मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद से जेल में हैं. सूत्रों का हवाला देते हुए चैनल ने कहा कि शरीफ, मरियम और सफदर को यह जानकारी दे दी गई है. उसने कहा कि सूत्रों के अनुसार शरीफ परिवार ने कुलसुम के शव को पाकिस्तान लाने का फैसला किया है. परिवार ने पुष्टि की कि उन्हें पाकिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा.

टिप्पणियां
प्रधानमंत्री इमरान खान ने उनके निधन पर शोक जताया और एक बयान में कहा कि उनके परिवार तथा वारिसों को कानून के मुताबिक सभी सुविधाएं मुहैया करायी जाएंगी. खान ने लंदन स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग को निर्देश दिया है कि उनके परिवार को जरूरी सुविधाएं मुहैया करायी जाए. सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने भी कुलसुम के निधन पर शोक जताया और शोकसंतप्त परिवार के प्रति संवेदना जताई. वह गले के कैंसर से पीड़ित थीं और इसकी पहचान पिछले साल अगस्त में हुई. उसके बाद वह लंदन में थीं जहां उनकी कई सर्जरी तथा कम से कम पांच केमोथेरेपी हुई. वह पीएमएल-एन की 1999 से 2002 के बीच अध्यक्ष भी रहीं, जब पूर्व सैन्य तानाशाह परवेज मुशर्रफ ने उनके पति की सरकार का तख्ता पलट दिया था. उन्हें 1999 में मुशर्रफ द्वारा नजरबंद भी रखा गया था. 

पिछले साल उच्चतम न्यायालय ने उनके पति को अयोग्य घोषित कर दिया था. इसके बाद वह लाहौर की एनए-120 सीट के लिए हुए उपचुनाव में विजयी हुई थीं. उनका जन्म 1950 में लाहौर में एक कश्मीरी परिवार में हुआ था. वह प्रसिद्ध पहलवान गामा के परिवार से थीं. उन्होंने लाहौर के फार्ममैन क्रिश्चियन विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि हासिल की और पंजाब विश्वविद्यालय से 1970 में उर्दू में मास्टर की डिग्री हासिल की. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement