अरब मुल्कों ने कतर के सामने रखी शर्त, मांगें पूरी करो तो बातचीत को तैयार

कतर से पांच जून को राजनयिक और परिवहन संबंध तोड़े जाने के बाद सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, मिस्र और बहरीन के विदेश मंत्रियों की यह दूसरी बैठक थी.

अरब मुल्कों ने कतर के सामने रखी शर्त, मांगें पूरी करो तो बातचीत को तैयार

कतर ने चरमपंथ का समर्थन करने और अन्य अरब मुल्कों के मामलों में दखलअंदाजी के आरोपों से इनकार किया है

दुबई:

कतर से संबंध तोड़ने वाले अरब जगत के चार देशों ने इस राजनयिक संकट पर चर्चा करने के लिए रविवार को बैठक की. उन्होंने कई मांगों की एक सूची के अनुपालन पर जोर दिया. कतर से पांच जून को राजनयिक और परिवहन संबंध तोड़े जाने के बाद सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, मिस्र और बहरीन के विदेश मंत्रियों की यह दूसरी बैठक थी. उन्होंने रविवार को बहरीन की राजधानी मनामा में बैठक की.

गौरतलब है कि इन देशों ने कतर पर चरमपंथ का समर्थन करने और अन्य अरब मुल्कों के मामलों में दखलअंदाजी का आरोप लगाया था. वहीं, कतर ने आरोपों से इनकार करते हुए इन्हें राजनीति से प्रेरित बताया था.
यह भी पढ़ें
कतर को 12 अरब डॉलर के एफ-15 लड़ाकू विमान बेचेगा अमेरिका, सौदे के लिए हुआ राजी

चारों विदेश मंत्रियों ने मनामा में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन कर कहा कि ये देश कतर के खिलाफ मौजूदा पाबंदी को जारी रखेंगे लेकिन यदि कतर ने अपना रास्ता बदलने की इच्छा जताई और उनकी मांगों का अनुपालन किया, तो वे इस देश के साथ वार्ता के लिए तैयार हैं.
यह भी पढ़ें
सऊदी अरब और सहयोगियों ने कतर से जुड़ी 'आतंकवाद की सूची' जारी की

Newsbeep

बहरीन के विदेश मंत्री ने मंत्रियों का एक बयान पढ़ा जिसमें कहा गया है कि इन देशों का अब भी इस पर जोर है कि कतर 13 मांगों की सूची का अनुपालन करे. शेख खालिद बिन अहमद अल खलीफा ने कहा कि चारों देश कतर के साथ इस शर्त पर वार्ता को तैयार हैं कि वह आतंकवाद का समर्थन और आतंकवाद को धन मुहैया कराना बंद करने की दृढ़ इच्छा जाहिर करे और 13 मांगों को लागू करे ताकि क्षेत्र और विश्व में शांति एवं स्थिरता सुनिश्चित हो सके.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)