यह ख़बर 20 जुलाई, 2012 को प्रकाशित हुई थी

अमेरिका : 'बैटमैन' के प्रीमियर में अंधाधुंध गोलीबारी, 14 मरे

अमेरिका : 'बैटमैन' के प्रीमियर में अंधाधुंध गोलीबारी, 14 मरे

खास बातें

  • कोलोराडो के डेनवर के उपनगरीय इलाके ऑरोरा के एक सिनेमाघर में नकाबपोश बंदूकधारी ने अंधाधुंध गोलीबारी करके 14 लोगों की हत्या कर दी और 50 को घायल कर दिया।
डेनवर:

अमेरिकी प्रांत कोलोराडो के एक सिनेमाघर में नकाबपोश बंदूकधारी ने अंधाधुंध गोलीबारी करके 14 लोगों की हत्या कर दी और 50 को घायल कर दिया। यह घटना कोलोराडो के डेनवर के उपनगरीय इलाके ऑरोरा की है।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यहां एक स्थानीय सिनेमाघर में हथियारों से लैस बंदूकधारी ने गोलीबारी की। यहां बैटमैन शृंखला की नई फिल्म ‘द डार्क नाइट राइजेज’ दिखाई जा रही थी।

स्थानीय समाचार चैनल '9न्यूज' के अनुसार रात के वक्त बंदूकधारी जबरन आपातकालीन निकास के दरवाजे से दाखिल हुआ और सिनेमाघर में फिल्म का लुत्फ उठा रहे निर्दोष लोगों पर अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। इस बंदूकधारी के पास बम और अत्याधुनिक हथियार थे। उसकी उम्र 20 से 30 के बीच रही होगी। गोलीबारी करने वाले संदिग्ध युवक को पुलिस ने पकड़ लिया है। उसने बताया कि उसके अपार्टमेंट में विस्फोटक है।

एफबीआई के अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए हैं और घटना की जांच में जुट गए हैं। पुलिस का कहना है कि गोलीबारी में 14 लोग मारे गए हैं और 50 घायल हुए हैं। 10 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि चार ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

पुलिस के मुताबिक स्थानीय समयानुसार देर रात करीब एक बजे 'सेंचुरी16 मूवी थियेटर' में गोलीबारी की सूचना मिली। सूचना मिलने के तत्काल बड़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंचे। इस घटना में भारतीय मूल के किसी व्यक्ति मारे जाने अथवा घायल होने की खबर नहीं है। घटना के बाद पूरे सिनेमाघर को खाली करा लिया गया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बेंजामिन फर्नांडीज नामक एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि फिल्म देखते समय उसने कई विस्फोटों की आवाज सुनी और लोगों को बाहर भागते देखा। एक प्रत्यक्षदर्शी ने सीएनएन से कहा, एक युवक सीढ़ियों से ऊपर की ओर आया और फिर एक-एक करके लोगों पर गोलीबारी करने लगा। इस गोलीबारी के कारण का अभी पता नहीं चल पाया है।

हिरासत में लिए गए युवक से पूछताछ की जा रही है। ऑरोरा पुलिस प्रमुख डैन ओआतेस ने बताया कि इस घटना में किसी दूसरे संदिग्ध के शामिल होने का सबूत नहीं है। इसी इलाके से कुछ दूरी पर एक स्कूल में 1999 में गोलीबारी हुई थी। उस घटना में 13 लोग मारे गए थे और 24 घायल हो गए थे।