फ्रांस ने कहा- अपनी धरती से आतंक खत्म करे पाकिस्तान, आतंकवाद के खिलाफ हर लड़ाई में हम भारत के साथ

फ्रांस ने एक बयान में कहा, ‘फ्रांस सीमा पार आतंकवाद से अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करने की भारत के औचित्य को मान्यता देता है और पाकिस्तान से अपने भूभाग में स्थापित आतंकवादी समूहों को खत्म करने को कहता है.'

फ्रांस ने कहा- अपनी धरती से आतंक खत्म करे पाकिस्तान, आतंकवाद के खिलाफ हर लड़ाई में हम भारत के साथ

प्रतीकात्मक तस्वीर.

खास बातें

  • IAF की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद आया बयान
  • पाकिस्तान से कहा- आतंक को खत्म करो
  • 'आतंक के खिलाफ लड़ाई में हम भारत के साथ'
पेरिस:

फ्रांस ने पुलवामा आतंकवादी (Pulwama Terror Attack) हमले को ‘भयावह' बताकर उसकी निंदा करते हुए कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) अपनी धरती से चल रहे आतंकवादी समूहों को खत्म करे. पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले को निशाना बनाकर किये गए आत्मघाती हमले में अर्द्धसैनिक बल के 40 जवान शहीद हुए थे. यूरोप और विदेश मामलों के मंत्रालय के कार्यवाहक प्रवक्ता ने कहा, ‘फ्रांस पुलवामा में भारतीय सुरक्षा बलों पर 14 फरवरी को किये गए भयावह हमले की निंदा करता है, जिसकी जिम्मेदारी आतंकवादी समूह जैश-ए-मोहम्मद ने ली है.'

अधिकारी ने एक बयान में कहा, ‘फ्रांस सीमा पार आतंकवाद से अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करने की भारत के औचित्य को मान्यता देता है और पाकिस्तान से अपने भूभाग में स्थापित आतंकवादी समूहों को खत्म करने को कहता है.' अधिकारी ने कहा कि फ्रांस आतंकवाद के सभी स्वरूपों के खिलाफ लड़ाई में भारत के साथ है और इस हमले के लिए जिम्मेदार आतंकवादियों पर प्रतिबंध लगाने और उनके वित्तीय नेटवर्क पर रोक लगाने के लिये अंतरराष्ट्रीय समुदाय को लामबंद करने में पूरी तरह लगा हुआ है.

पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर में LoC पर की गोलाबारी, भारतीय सेना के 5 जवान घायल

यह बयान फ्रांस के एक वरिष्ठ सूत्र के यह कहने के कुछ दिन बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि उनका देश जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने के लिये संयुक्त राष्ट्र में एक प्रस्ताव पेश करेगा. बता दें, जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा आतंकवादी हमले की जिम्मेदारी ली है. 

भारत के डोजियर में जैश के खिलाफ सारे सबूत, देखें आतंकी कैंप की तस्वीरें.. 

साथ ही बयान में कहा गया है, ‘फ्रांस भारत और पाकिस्तान से संयम बरतने की अपील करता है ताकि सैन्य टकराव के किसी भी जोखिम को टाला जा सके और क्षेत्र में सामरिक स्थिरता की रक्षा की जा सके.' इसके अलावा बयान में कहा गया है कि इस्लामाबाद और नई दिल्ली के बीच द्विपक्षीय वार्ता को बहाल किया जाना मतभेदों के शांतिपूर्ण हल को शुरू करने के लिये जरूरी है.

(इनपुट- भाषा)

VIDEO: पाक रक्षा मंत्री बोले- भारतीय विमान अंधेरे में आए हमें पता नहीं चला, Twitter पर यूं आए रिएक्शन

VIDEO- IAF ने किए जैश के आतंकी कैंप तबाह

 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com