'भारत-चीन सीमा पर सैनिक संख्या में बढ़ोतरी नहीं'

खास बातें

  • जनरल ने कहा कि घुसपैठ इसलिए होती है कि भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा को जमीन पर नहीं उकेरा गया है।
नई दिल्ली:

सेना ने कहा कि भारत-चीन सीमा पर किसी भी पक्ष की ओर से सेना की संख्या में बढ़ोतरी नहीं की गई है। सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह ने कहा, भारत-चीन सीमा पर दोनों तरफ से सैनिकों की संख्या में बढ़ोतरी नहीं की गई है। सैनिकों की संख्या उतनी ही है जितनी वर्षों से रही है। बहरहाल उन्होंने कहा कि सीमा के दोनों तरफ बुनियादी ढांचे के विकास में तेजी आई है। उन्होंने भारत-चीन सीमा के बारे में कहा, यह एकतरफा नहीं है। दूसरी तरफ विकास हो रहा है। इसी तरह, हमारे विकास उद्देश्यों और दूरवर्ती इलाकों में पहुंच सुनिश्चित करने के लिए हम बुनियादी ढांचे का विकास कर रहे हैं। लद्दाख के डेमचक इलाके में हाल में चीनी सैनिकों की घुसपैठ के बारे में सिंह ने कहा कि चीन का गश्ती दल उस इलाके तक आया था और उसका मानना है कि वह इलाका उनका है। उन्होंने कहा, इस इलाके में चीनी गश्ती दल वहां तक जाते हैं जिसे वह अपना इलाका मानते हैं और हमारा गश्ती दल वहां तक जाता है जिसे वह अपना इलाका मानता है। सिंह ने कहा, जब हमारा गश्ती दल अपने मान्य इलाके तक जाता है तो आप रिपोर्ट नहीं करते क्योंकि वे हमारे गश्ती दल हैं लेकिन जब उनका गश्ती दल आता है तो आप रिपोर्ट करते हैं कि घुसपैठ हुई है। जनरल ने कहा कि घुसपैठ इसलिए होती है कि भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा को जमीन पर नहीं उकेरा गया है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com