George Floyd की मौत पर प्रदर्शन : व्हाइट हाउस पहुंचे प्रदर्शनकारी, तो डोनाल्ड ट्रम्प को बंकर में ले गए अफसर

प्रदर्शनकारियों के बाहर इकट्ठा होने की खबर मिलते ही व्हाइट हाउस के सुरक्षा अधिकारी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) को अंडरग्राउंड बंकर में ले गए थे.

George Floyd की मौत पर प्रदर्शन : व्हाइट हाउस पहुंचे प्रदर्शनकारी, तो डोनाल्ड ट्रम्प को बंकर में ले गए अफसर

डोनाल्ड ट्रम्प प्रदर्शनकारियों से शांति बनाए रखने की अपील कर रहे हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद US में प्रदर्शन
  • शुक्रवार रात व्हाइट हाउस पहुंच गए प्रदर्शनकारी
  • राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को बंकर में लेनी पड़ी शरण
वॉशिंगटन:

अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की मौत के बाद इंसाफ के लिए अश्वेतों का प्रदर्शन जारी है. करीब 30 शहरों में हिंसक प्रदर्शन भी हुए. 'द न्यूयॉर्क टाइम्स' की खबर के अनुसार, शुक्रवार रात सैकड़ों की संख्या में प्रदर्शनकारी वॉशिंगटन स्थित व्हाइट हाउस (White House) के बाहर जमा हो गए थे. प्रदर्शनकारियों के बाहर इकट्ठा होने की खबर मिलते ही व्हाइट हाउस के सुरक्षा अधिकारी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) को अंडरग्राउंड बंकर में ले गए थे. खबर के मुताबिक, ट्रम्प को वहां एक घंटे से भी कम समय तक रखा गया.

सीक्रेट सर्विस और यूनाइटेड स्टेट्स पार्क पुलिस के अफसरों ने प्रदर्शनकारियों को आगे बढ़ने से रोका. प्रदर्शनकारियों के व्हाइट हाउस तक पहुंचने पर डोनाल्ड ट्रम्प और उनकी टीम के सदस्य भी हैरान थे. अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि ट्रम्प के साथ उनकी पत्नी मेलानिया ट्रम्प और सलाहकार बैरन ट्रम्प भी बंकर में गए थे या नहीं.

हिंसक प्रदर्शनों के मद्देनजर बीते दिन वॉशिंगटन समेत अमेरिका के 40 शहरों में कर्फ्यू लागू कर दिया गया है. पुलिस कस्टडी में अश्वेत अफ्रीकन-अमेरिकन नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद वहां लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं. 15 राज्यों में अब करीब 5000 नेशनल गार्ड्स ने मोर्चा संभाला हुआ है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि बीते सोमवार को एक रेस्टोरेंट के सिक्योरिटी गार्ड जॉर्ज फ्लॉयड को जालसाजी से जुड़े एक मामले में पुलिस ने पकड़ा था. घटना का एक वीडियो वायरल हुआ था. वीडियो में साफ दिख रहा है कि जॉर्ज ने गिरफ्तारी के समय किसी तरह का विरोध नहीं किया. पुलिस ने उसके हाथों में हथकड़ी पहनाई और जमीन पर लिटा दिया. जिसके बाद एक पुलिस अधिकारी ने उसकी गर्दन को घुटनों से दबा दिया. जॉर्ज कहता रहा कि वह सांस नहीं ले पा रहा है और कुछ ही देर में वह बेहोश हो गया. अस्पताल में उसे मृत घोषित कर दिया. जॉर्ज की मौत से लोग आक्रोशित हो गए और रंगभेद की बात पर शहर में बवाल शुरू हो गया.

शहर की कई दुकानों में लूटपाट की खबरें हैं. पुलिस ने लोगों को काबू में करने के लिए आंसू गैस और रबर बुलेट का इस्तेमाल किया. गोली लगने से एक शख्स की मौत हुई है. पुलिस इस मामले की भी जांच कर रही है कि क्या किसी स्टोर के मालिक ने उस शख्स को गोली मारी है. व्हाइट हाउस ने इस मामले में बयान जारी करते हुए कहा था कि राष्ट्रपति ट्रम्प इस घटना से बेहद दुखी हैं और वह चाहते हैं कि जॉर्ज फ्लॉयड को इंसाफ मिले. (इनपुट ANI से भी)