NDTV Khabar

Global Warming की सालों पहले भविष्यवाणी करने वाले 'जलवायु विज्ञान के पितामह' का निधन

 ब्रोकर ने 1975 में अपने एक पत्र में ‘ग्लोबल वार्मिंग’ शब्द को इस्तेमाल किया था जिसमें उन्होंने सटीक भविष्यवाणी की थी कि वायुमंडल में कार्बन डाईऑक्साइड का स्तर बढ़ने से ग्लोबल वार्मिंग (Global Warming) बढ़ेगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Global Warming की सालों पहले भविष्यवाणी करने वाले 'जलवायु विज्ञान के पितामह' का निधन

'ग्लोबल वार्मिंग' शब्द को प्रचलित करने वाले वैज्ञानिक का निधन 

न्यूयॉर्क:

ग्लोबल वार्मिंग (Global Warming) शब्द को प्रचलित करने वाले जलवायु वैज्ञानिक वालेस स्मिथ ब्रोकर (Wallace Smith Broecker) का निधन हो गया. वह 87 वर्ष के थे. कोलंबिया विश्वविद्यालय ने बताया कि प्रोफेसर और अनुसंधानकर्ता ब्रोकर (Climate Scientist Wallace Smith Broecker) का न्यूयॉर्क सिटी अस्पताल में सोमवार को निधन हो गया.

विश्वविद्यालय की ‘लामोंट-डोहर्ती अर्थ ओब्जर्वेट्री' के प्रवक्ता ने बताया कि ब्रोकर पिछले कुछ समय से बीमार थे. ब्रोकर ने 1975 में अपने एक पत्र में ‘ग्लोबल वार्मिंग' शब्द को इस्तेमाल किया था जिसमें उन्होंने सटीक भविष्यवाणी की थी कि वायुमंडल में कार्बन डाईऑक्साइड का स्तर बढ़ने से ग्लोबल वार्मिंग (Global Warming) बढ़ेगी.

डोनाल्ड ट्रंप ने ग्लोबल वार्मिंग पर तंज कसते हुए किया ट्वीट, 18 साल की आस्था ने ऐसे कर दी बोलती बंद


जल एवं पोषक तत्वों का संचररण करने वाली समुद्री धाराओं की वैश्विक प्रणाली ‘महासागर कन्वेयर बेल्ट' (Ocean Conveyor Belt) को पहचानने वाले वह पहले वैज्ञानिक थे. ब्रोकर का जन्म 1931 में शिकागो में हुआ था और वह उपनगर ओक पार्क में पले-बढ़े. वह 1959 में कोलंबिया विश्वविद्यालय से जुड़े थे. उन्हें विज्ञान जगत में ‘जलवायु विज्ञान के पितामह' के रूप में जाना जाता था.

Supermoon 2019: आज रात दिखेगा साल का सबसे बड़ा चांद, नहीं किया दीदार तो करना होगा 7 साल का इंतज़ार

इनपुट - भाषा

टिप्पणियां

VIDEO: धरती की फिक्र किसे है?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement