NDTV Khabar

Omar Khayyam 971st Birthday: फारसी कवि, फिलोसोफर, गणितज्ञ और ज्योतिर्विद थे उमर खय्याम, गूगल ने डूडल से बनाया 971वां जन्मदिवस

Omar Khayyam Google Doodle: उमर खय्याम बहुत प्रसिद्ध विद्वान थे, उन्हें क्यूबिक इक्वेशन्स के वर्गीकरण और उन्हें हल करने पर अपने काम के लिए जाना जाता है. उमर खय्याम (Omar Khayyam) क्यूबिक इक्वेशन्स का आसान हल निकालने वाले पहले व्यक्ति थे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Omar Khayyam 971st Birthday: फारसी कवि, फिलोसोफर, गणितज्ञ और ज्योतिर्विद थे उमर खय्याम, गूगल ने डूडल से बनाया 971वां जन्मदिवस

Omar Khayyam Google Doodle (उमर खय्याम गूगल डूडल)

खास बातें

  1. गूगल ने उमर खय्याम पर बनाया डूडल
  2. उमर खय्याम बहुत ही प्रसिद्ध पारसी कवि
  3. जलाली कैलेंडर को शुरू करने का श्रेय
निशाबुर:

Omar Khayyam Google Doodle: गूगल ने आज उमर खय्याम का डूडल (Omar Khayyam) बनाया. उमर खय्याम बहुत ही प्रसिद्ध पारसी कवि, फिलोसोफर, गणितज्ञ और ज्योतिर्विद थे. गूगल आज उमर खय्याम की 971वीं जयंती (Omar Khayyam 971st Birthday) मना रहा है. उमर खय्याम का जन्म 18 मई 1048 को उत्तर पूर्वी ईरान के निशाबुर (निशापुर) में एक खेमा बनाने वाले परिवार में हुआ था. 

उमर खय्याम (Omar Khayyam Persian Mathematician) को कई गणितिय और विज्ञान की खोज के लिये जाना जाता है. इसके साथ ही उन्हें जलाली कैलेंडर (Jalali calendar) को शुरू करने का श्रेय भी जाता है. जलाली कैलेंडर एक सौर कैलेंडर (Solar Calendar) है, जिसे जलाली संवत (Jalali Sanvat) या सेल्जुक संवत भी कहा जाता है. ये कैलेंडर बाकी कैलेंडर का आधार बना. ये जलाली कैलेंडर आज भी इरान और अफगानिस्तान में इस्तेमाल किया जाता है. 

क्यूबिक इक्वेशन्स के वर्गीकरण और इन्हें हल करने के लिए उमर खय्याम (Omar Khayyam) ने उस दौर में अभूतपूर्व काम किया. खय्याम क्यूबिक इक्वेशन्स का आसान हल निकालने वाले पहले व्यक्ति थे.


पाकिस्तान के शहर में तेजी से फैल रहा है HIV/AIDS, 2 महीने में हज़ारों मामले दर्ज...बताई ये वजह

4adinig

उमर खय्याम की समाधि

फिलोसोफर और गणितज्ञ के आलावा उमर खय्याम का साहित्य (Omar Khayyam Book) में भी काफी योगदान रहा. उनकी कविताएं और रुबायत लिखीं, जो कि आज भी बेहद पसंद की जाती हैं. विदेशों में उनकी लिखी हुई किताब रुबायत ऑफ उमर खय्याम (Rubaiyay of Omar Khayyam) बहुत प्रसिद्ध है, इस किताब को एडवर्ड फिट्जगेराल्ड (Edward Fitzgerald) ने अनुवाद किया. 

उमर खय्याम का अंतरिक्ष और ज्योतिष से खास जुड़ाव था और इसी के चलते उन्होंने इन क्षेत्रों में भी काफी काम किया. उन्होंने इसी दिशा में काम करते हुए एक सौर वर्ष (लाइट ईयर) की दूरी दशमलव के छह बिन्दुओं तक पता लगाई.

उमर खय्याम (Omar Khayyam) बहुत प्रसिद्ध विद्वान भी थे, अपने ज्ञान की वजह से वह खोरासाम प्रांत के मलिक शाह-1 के दरबारी ज्योतिर्विद और सलाहकार भी रहे. उन्होंने अल्जेब्रा (Algebra) में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया है. उन्होंने द्विपद गुणांक और पास्कल त्रिकोण की त्रिकोणीय सरणी की भी स्थापना की. इतना ही नहीं उमर खय्याम ने संगीत और अल्जेब्रा पर अंकगणित की समस्याएं (Problems of Arithmetic) नाम से एक किताब भी लिखी.

प्रेमी ने प्रेमिका के साथ मिलकर किया प्रेग्नेंट महिला का मर्डर, फिर पेट चीरकर निकाला बच्चा और...

उमर खय्याम (Omar Khayyam) की मृत्यु 4 दिसंबर,1131 में 83 साल की उम्र में हुई. उनके शरीर को निशाबुर, ईरान में ही मौजूद खय्याम गार्डन (Khayyam Garden) में दफनाया गया. 

5afam3i8

खय्याम गार्डन की तस्वीर यहां ही उमर खय्याम को दफनाया गया.

2012 में भी सर्च इंजन ने खय्याम का 964वां जन्मदिन भी विशेष डूडल मनाया था.  आज का ये गूगल डूडल भारत के अलावा, डूडल रूस, मध्य पूर्व, उत्तरी अफ्रीकी देशों, अमेरिका और चिली में गूगल के यूजर्स को नजर आएगा.

टिप्पणियां

VIDEO: पाश की कविता से डर किसे?


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement