NDTV Khabar

Google Doodle: The Berlin Wall पर बना गूगल डूडल, जानिए जर्मनी के इतिहास में क्यों खास रही ये दीवार

Google Doodle: द्वितीय विश्वयुद्ध (World War II) के बाद जर्मनी दो हिस्सों पूर्वी और पश्चिमी जर्मनी में बंट गया था. सैंकड़ों कारीगर और व्यवसायी रोज़ाना पूर्वी बर्लिन को छोड़कर पश्चिमी बर्लिन जाने लगे थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Google Doodle: The Berlin Wall पर बना गूगल डूडल, जानिए जर्मनी के इतिहास में क्यों खास रही ये दीवार

The Berlin Wall से जुड़ी खास बातें...

जर्मनी:

The Berlin Wall पर आज गूगल ने डूडल (Google Doodle) बनाया है. क्योंकि आज से 30 साल पहले जर्मनी की राजधानी बर्लिन की इस दीवार को तोड़ा गया था. जर्मनी के लोगों के लिए यह एक ऐतिहासिक दिन था. दरअसल, द्वितीय विश्वयुद्ध (World War II) के बाद जर्मनी दो हिस्सों पूर्वी और पश्चिमी जर्मनी में बंट गया था. सैंकड़ों कारीगर और व्यवसायी रोज़ाना पूर्वी बर्लिन को छोड़कर पश्चिमी बर्लिन जाने लगे थे, लेकिन धीरे-धीरे इस शीत युद्ध को खत्म किया गया और आखिरकार 9 नवंबर, 1989 को इस दीवार को तोड़ने की शुरुआत हुई. गूगल डूडल में भी गिरी दीवार के सामने दो परिजनों को गले मिलते दिखाया गया है. डूडल को बर्लिन के गेस्ट आर्टिस्ट मैक्स गुथर ने बनाया है. इसमें एक पुरुष और महिला को दीवार गिरने के बाद गले मिलते हुए दिखाया गया है. यह वह क्षण था जिसने शीत युद्ध के युगपत अंत और पूर्वी व पश्चिमी जर्मनी के पुनर्मिलन की शुरुआत का संकेत दिया था.

The Berlin Wall से जुड़ी खास बातें...

1. बर्लिन की दीवार का निर्माण 13 अगस्त 1961 को शुरू हुआ था. वहीं, 9 नवम्बर, 1989 के बाद इसे तोड़ दिया गया था.
2. द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद जर्मनी दो हिस्सों पूर्वी और पश्चिमी जर्मनी में बंट गया था.
3. पूर्वी जर्मनी को छोड़ कारीगर काम और गुजर-बसर के लिए पश्चिमी बर्लिन जाने लगे, जिससे पूर्वी जर्मनी को काफी आर्थिक नुकसान हुआ. इसी प्रवासन को रोकने के लिए दीवार बनाई गई.
4. पश्चिमी जर्मनी की तरफ जाने से रोकने के लिए लोगों को सीमा पार करते हुए दी गोली मार दी जाती थी, उनपर अत्याचार किया जाता था. पूर्वी जर्मनी की तरफ तैनात गार्ड्स को ये आदेश दिया गया था कि जो भी व्यक्ति सीमा पार करे, उसे उसी वक्त गोली मार दी जाए.   
5. द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद शीत युद्ध का प्रतीक बनी इस दीवार को बनाने की मंजूरी सोवियत संघ के नेता निकिता ख्रुश्चेव ने दी थी. 
6.1980 के दशक में सोवियत संघ के पतन के बाद सीमा नियमों से सख्ती कम हुई. 
7. पूर्वी जर्मनी में लोगों ने प्रदर्शन किए और 9 नवंबर 1989 को घोषणा की गई कि सीमा पर आवागमन पर से रोक हटा दी गई है.
8. इस घोषणा के बाद दीवार को तोड़ दोनों तरफ के लोग दीवार पार कर आपस में एक-दूसरे से गले मिले. 
9. धीरे-धीरे सीमा टूटती गई और लोग दीवार के टुकड़े तोड़कर यादगार के लिए अपने घर ले गए.
10. 3 अक्टूबर 1990 को आधिकारिक तौर पर जर्मनी फिर से एक हो गया.


दुनिया से जुड़ी और खबरें...

H-1B वीजा की बढ़ी फीस, अमेरिका में काम करने के लिए अब चुकानी होगी ये रकम

तुर्की के राष्ट्रपति बोले - IS सरगना बगदादी ने की आत्महत्या, हमारे नियंत्रण में है उसकी पत्नी

टिप्पणियां

भारतीय-अमेरिकी गजाला हाशमी वर्जीनिया राज्य सीनेट के लिए चुनी गईं पहली मुस्लिम महिला

अमेरिका में भारतीयों का डंका,भारतीय मूल के चार अमेरिकी नागरिकों ने स्टेट और स्थानीय चुनावों में दर्ज की जीत



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement