पाकिस्तान में सरकार ने नवाज शरीफ के लिए जेल के बाहर एम्बुलेंस तैनात कीं

पीएम इमरान खान ने आदेश दे दिया है कि शरीफ पाक के जिस अस्पताल में चाहें इलाज के लिए जा सकते हैं

पाकिस्तान में सरकार ने नवाज शरीफ के लिए जेल के बाहर एम्बुलेंस तैनात कीं

पाकिस्तान में वहां की पंजाब सरकार ने नवाज शरीफ के लिए जेल के बाहर एम्बुलेंस तैनात कर दी हैं.

खास बातें

  • शरीफ ने कहा- सरकार मेरे इलाज में जानबूझकर रोड़े अटका रही
  • शरीफ के भाई शहबाज शरीफ ने कहा तत्काल इलाज की जरूरत
  • विपक्ष ने कहा- शरीफ के स्वास्थ्य को लेकर सरकार की विफलता खेदजनक
नई दिल्ली:

पाक के पूर्व पीएम नवाज शरीफ के लिए पंजाब सरकार ने जेल के बाहर एम्बुलेंस तैनात कर दिए हैं. नवाज की तबीयत काफी खराब बताई जा रही है. पीएम इमरान खान ने आदेश दिया है कि शरीफ जहां चाहें इलाज करा सकते हैं.

नवाज शरीफ के परिवार ने अपने मनपसंद अस्पताल में इलाज की इच्छा जताई थी, लेकिन सरकार की तरफ से इजाज़त नहीं मिली थी. अब पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने आदेश दे दिया है कि वे पाक के जिस अस्पताल में चाहें इलाज के लिए जा सकते हैं.

इससे पहले मीडिया में आई खबरों के मुताबिक जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने संघीय सरकार पर आरोप लगाया था कि वह जान-बूझकर दिल से जुड़ी उनकी बीमारी के इलाज में रोड़े अटका रही है.

पाकिस्तान : पूर्व पीएम नवाज जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे

शरीफ के भाई एवं पीएमएल-एन अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने कहा कि तीन बार प्रधानमंत्री रहे शरीफ की जिंदादिली बनी हुई है, लेकिन उन्हें अब भी तत्काल चिकित्सकीय इलाज की जरूरत है. एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने शहबाज के हवाले से कहा, “उन्होंने (शरीफ) बताया कि जिस चिकित्सक ने पूर्व में उनका परीक्षण किया था, उसने कहा था कि उन्हें सिर्फ उनके स्वास्थ्य की जांच और उसे प्रमाणित करने के लिए भेजा जाता है. डॉक्टरों ने कहा कि उन्हें इलाज शुरू करने को लेकर कोई आदेश नहीं है.”    

नेशनल असेंबली में नेता विपक्ष ने कहा कि शरीफ की स्वास्थ्य जरूरतों से जुड़ी चिंताओं को लेकर सरकार की विफलता खेदजनक है. उन्होंने कहा, “यह दुखद है कि तीन बार प्रधानमंत्री रहे व्यक्ति के इलाज को राजनीतिक मुद्दा बनाया जा रहा है. अत्याचार खत्म होना चाहिए.”    

जेल में बंद नवाज शरीफ की तबियत बिगड़ी, बेटी ने किया दावा- जेल प्रशासन नहीं करा रहा इलाज

शहबाज का यह बयान पंजाब सरकार की तरफ से पूर्व प्रधानमंत्री को लिखे उस खत के बाद आया जिसमें कहा गया कि वह लाहौर में अपनी पसंद के किसी भी अस्पताल में इलाज करा सकते हैं.

VIDEO : नवाज शरीफ की बेटी और दामाद की सजा पर रोक

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

शरीफ ने परिवार के सदस्यों के अनुरोध के बावजूद इलाज के लिए अस्पताल जाने से बुधवार को इनकार करते हुए कहा था कि वह इलाज के नाम पर सरकार द्वारा की जा रही राजनीति की बजाय “सम्मानजनक मौत” पसंद करेंगे.
(इनपुट भाषा से भी)