आतंकी हाफिज सईद की सजा पर आया अमेरिका का बयान, कहा- यह एक महत्वपूर्ण कदम

पाकिस्तान की एक आतंकवाद निरोधक अदालत ने आतंकवाद के लिए धन मुहैया कराने के दो मामलों में हाफिज सईद को बुधवार को साढ़े पांच साल- साढ़े पांच साल कैद और दोनों मामलों में 15-15 हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनायी थी.

आतंकी हाफिज सईद की सजा पर आया अमेरिका का बयान, कहा- यह एक महत्वपूर्ण कदम

पाकिस्तान की एक आतंकवाद निरोधक अदालत ने आतंकवाद के लिए धन मुहैया कराने के दो मामलों में हाफिज सईद को सुनाई सजा

खास बातें

  • मुम्बई 2008 आतंकवादी हमलों का मास्टरमाइंड है हाफिज सईद
  • अदालत द्वारा सजा सुनाने के फैसले का अमेरिका ने किया स्वागत
  • जवाबदेही तय करने की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण कदम है
वाशिंगटन:

मुम्बई 2008 आतंकवादी हमलों के मास्टरमाइंड तथा कुख्यात आतंकवादी हाफिज सईद (Hafiz Saeed) को पाकिस्तान (Pakistan) की अदालत द्वारा सजा सुनाने के फैसले का अमेरिका (America) ने स्वागत करते हुए कहा कि लश्कर ए-तैयबा की जवाबदेही तय करने की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण कदम है. पाकिस्तान की एक आतंकवाद निरोधक अदालत ने आतंकवाद के लिए धन मुहैया कराने के दो मामलों में हाफिज सईद को बुधवार को साढ़े पांच साल- साढ़े पांच साल कैद और दोनों मामलों में 15-15 हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनायी थी. दक्षिण एवं मध्य एशिया मामलों की कार्यवाहक सहायक विदेश मंत्री एलिस जी. वेल्स ने कहा, ‘आज, हाफिज और उसके साथियों को दोषी ठहराया जाना, लश्कर ए-तैयबा की उसके अपराधों के लिए जवाबदेही तय करने और पाकिस्तान की आतंकवादी वित्तपोषण से निपटने की अपनी अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं को पूरा करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है.'

वेल्स ने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि यह देश के भविष्य के हित में है कि वह अपनी सरजमीं का इस्तेमाल देश विरोधी तत्वों को नहीं करने दें. आतंकवाद निरोधक अदालत ने आतंकवाद को धन मुहैया कराने के मामलों की रोजाना सुनवाई करते हुए 11 दिसम्बर को सईद एवं उसके एक सहयोगी को दोषी करार दिया था. अदालत ने बुधवार को दोनों मामलों में सईद को साढ़े पांच साल- साढ़े पांच साल कैद की सजा सुनायी और दोनों मामलों में 15-15 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया. दोनों मामलों में सजा साथ साथ चलेंगी.

FATF की बैठक से पहले आतंकी हाफिज सईद को जेल, भारत सरकार के सूत्रों ने उठाए फैसले के 'असर' पर सवाल

पंजाब पुलिस के आतंकवाद विरोधी विभाग के आवेदन पर सईद के खिलाफ लाहौर और गुजरांवाला शहर में मामला दर्ज किया गया था. सईद की पार्टी जमात उद-दावा के बारे में माना जाता है कि वह लश्कर ए-तैयबा का सहायक संगठन है, जो मुंबई में 2008 में हुए आतंकवादी हमले के लिए जिम्मेदार है. इस हमले में छह अमेरिकी समेत 166 लोगों की मौत हो गई थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: गिरफ्तार हुआ हाफिज सईद, माजिद मेमन बोले- ईमानदारी से हो कार्रवाई



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)