नजरबंद हुआ लश्कर सरगना हाफिज सईद, चिल्लाया - ट्रंप और मोदी की दोस्ती की वजह से हुई कार्रवाई

नजरबंद हुआ लश्कर सरगना हाफिज सईद, चिल्लाया - ट्रंप और मोदी की दोस्ती की वजह से हुई कार्रवाई

जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद...

खास बातें

  • मुस्लिम देशों पर कार्रवाई और पाकिस्तान को दी गई चेतावनी का असर
  • भारत में मुंबई हमले का मास्टरमाइंड है हाफिज सईद
  • नजरबंद होने के बाद सोशल मीडिया पर सईद ने वीडियो जारी किया
नई दिल्ली:

अमेरिका के नए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कुछ मुस्लिम देशों पर कार्रवाई और पाकिस्तान को दी गई चेतावनी का असर दिखा और आखिरकार पाकिस्तान ने हाफिज सईद के खिलाफ कार्रवाई की. लाहौर में सोमवार रात को भारत में मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा संगठन के सरगना हाफिज सईद समेत पांच लोगों को नजरबंद कर दिया गया है. पाकिस्तान सरकार के इस आदेश के बाद और नजरबंद होने के बाद सोशल मीडिया पर सईद ने एक वीडियो जारी बयान दिया है. वीडियो में हाफिज ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर भी जमकर हमला बोला.

कथित तौर पर हाफिज सईद या उसके समर्थक के ट्विटर हैंडल @AmeerJamatDawah पर दो वीडियो डाले गए हैं. इन वीडियो में हाफिज सईद पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कह रहा है कि भारत सरकार के दबाव में ही पाकिस्तान ने उसे नजरबंद किया है. वीडियो में हाफिज की तरफ से कथित तौर पर यह दावा किया जा रहा है कि पाकिस्तान में कहीं भी उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की गई है.
 

वीडियो में हाफिज सईद कह रहा है कि, 'अमेरिका का नया राष्ट्रपति ट्रंप मोदी से गहरी दोस्ती निभाना चाहता है इसी के चलते पाकिस्तान पर दबाव डाला जा रहा है.' हाफिज ने यह भी कहा कि उसका अमेरिका के साथ कोई झगड़ा नहीं है, उसका झगड़ा तो भारत के साथ है कश्मीर मुद्दे को लेकर.
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने बाहरी दबाव में मेरे खिलाफ काम किया है. उनका दावा है कि पाकिस्तान में उनके खिलाफ कोई मामला नहीं है. जबकि यहां पर वह शिक्षा को लोगों तक पहुंचा रहे हैं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के लिए जमात उद दावा ने अपनी कुर्बानी दी है. उन्होंने कहा कि सिंध में हमने पाकिस्तान के लिए बहुत कुछ किया.

उन्होंने कहा कि हम कश्मीर के मामले के साथ खड़े रहेंगे. पाकिस्तान की हिफाजत में हम लगे रहेंगे. हम अपने मकसद से पीछे नहीं हटेंगे.