पाकिस्तान में भारी बर्फबारी -बारिश से 75 लोगों की मौत, कई लापता

पाकिस्तान के अखबार‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ के मुताबिक, कई इलाकों में शीतलहर से जनजीवन ठप हो गया है और देशभर में करीब 75 लोगों की मौत हो गई है.

पाकिस्तान में भारी बर्फबारी -बारिश से 75 लोगों की मौत, कई लापता

पाकिस्तान में बारिश और बर्फबारी से 75 की मौत (प्रतीकात्मक चित्र)

इस्लामाबाद:

पाकिस्तान में भारी बर्फबारी और मूसलाधार बारिश के कारण हुए हिमस्खलन व भूस्खलन की घटनाओं में महिलाओं और बच्चों समेत 75 लोगों की मौत हो गई और 40 से अधिक घायल हो गए. इन मौतों की सूचना मंगलवार को दी गई है. कड़ाके की ठंड और खराब मौसम ने देश भर में लोगों के लिए काफी मुश्किलें खड़ी कर दी हैं. सड़क यातायात और संचार सेवाएं गंभीर रूप से प्रभावित हुई हैं. पाकिस्तान के अखबार‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून' के मुताबिक, कई इलाकों में शीतलहर से जनजीवन ठप हो गया है और देशभर में करीब 75 लोगों की मौत हो गई है.

पाकिस्तान में बारिश ने ली 10 लोगों की जान, कहीं ढही छत तो कहीं बाढ़ से जीवन अस्त-व्यस्त

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के हवाले से खबर में कहा गया है कि पिछले 24 घंटे में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में हिमस्खलन की घटनाओं से कम से कम 57 लोगों की मौत हो गई और कई अन्य लापता हो गए. इसमें बताया गया कि अकेले बलूचिस्तान में बारिश और बर्फबारी की घटनाओं में 17 लोगों की मौत की पुष्टि की गई है.  राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार, खराब मौसम के कारण देश में 41 लोग घायल हो गए जबकि 35 मकान भी क्षतिग्रस्त हुए हैं. बलूचिस्तान के विभिन्न हिस्सों में भीषण बर्फीले तूफान से सोमवार को खराब मौसम में महिलाओं और बच्चों समेत सैकड़ों यात्री फंस गए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पाकिस्तान में भारी बारिश से 164 लोग मरे, 165 घायल

सोमवार को मीडिया में आई खबरों में बताया गया था कि पाकिस्तान के सबसे बड़े प्रांत बलूचिस्तान के कई हिस्सों में महिलाओं और बच्चों समेत कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई और 12 से अधिक लोग जख्मी हो गए. राहत, आपदा और सिविल रक्षा मंत्री सैयद शाहिद मोहिद्दीन कादरी ने बताया कि ऊंचे इलाकों में भारी बर्फबारी और बारिश से कई सड़कें अवरुद्ध हो गईं. अधिकारी ने बताया कि मूसलाधार बारिश से सियालकोट, गुजरात और पंजाब के कुछ अन्य शहरों के निचले इलाकों में बाढ़ आ गई है. प्रभावित इलाकों में फिलहाल राहत और बचाव का कार्य जारी है.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)