रूस : पुतिन सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरा जनसैलाब, 2500 से ज्यादा प्रदर्शनकारी गिरफ्तार

गिरफ्तारी के विरोध में हो रहा प्रदर्शन शनिवार को और फैल गया. रूस के 100 से ज्यादा शहरों में प्रदर्शन किया गया. राजधानी मॉस्को में प्रदर्शनकारियों ने पुश्किन स्क्वायर का घेराव किया.

रूस : पुतिन सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरा जनसैलाब, 2500 से ज्यादा प्रदर्शनकारी गिरफ्तार

प्रदर्शन के दौरान पुलिस और प्रदर्शकारियों में झड़प

मॉस्को:

रूस में पुतिन सरकार के खिलाफ लोग सड़क पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं. राजधानी मॉस्को में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प भी हुई. रूस के कई शहरों में प्रदर्शन के दौरान शनिवार को 2,500 से ज्यादा प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया. विपक्षी नेता एलेक्सी नवलनी की रिहाई और पुतिन सरकार को हटाने की मांग करते हुए रूस के कई शहरों में भारी संख्या में लोग सड़क पर उतर आए. नवलनी को बर्लिन से आने के बाद मॉस्को एयरपोर्ट पर हिरासत में लिया गया.

अमेरिका और ब्रुसेल्स ने प्रदर्शनकारियों के साथ किए जा रहे बर्ताव और गिरफ्तारी की निंदा की है. यूरोपीय संघ के विदेश नीति प्रमुख जोसेप बोरेल ने कहा कि ईयू अपने "अगले कदम" पर सोमवार को चर्चा करेगा. 

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के सबसे बडे आलोचक और धुर विरोधी नवलनी को 17 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था, जब वह जर्मनी से मॉस्को लौटे. जर्मनी में पांच महीने से उनका इलाज चल रहा था. उन्होंने रूस सरकार पर उनको जहर देने का आरोप लगाया है.

गिरफ्तारी के विरोध में हो रहा प्रदर्शन शनिवार को और व्यापक हो गया. रूस के 100 से ज्यादा शहरों में प्रदर्शन किया गया. राजधानी मॉस्को में प्रदर्शनकारियों ने पुश्किन स्क्वायर का घेराव किया और पुलिस पर स्नोबॉल से पथराव किया. जवाब में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठी चलाई और बड़ी संख्या में लोगों को हिरासत में लिया गया. 

71 वर्षीय वेरा स्पिवकोवा ने एएफपी से कहा, "वर्दी पहने अपराधी, सत्ता चला रहे क्रिमिनल्स को बचा रहे हैं. उन्होंने कहा, "पुतिन और उनके साथियों को सत्ता खोने का डर सता रहा है."


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com