ये हैं वे 24 समझौते जिन पर भारत और चीन ने किए हैं हस्ताक्षर

ये हैं वे 24 समझौते जिन पर भारत और चीन ने किए हैं हस्ताक्षर

बीजिंग:

भारत और चीन ने आज करीब 10 बिलियन डॉलर यानी 63 हज़ार करोड़ रुपये के 24 समझौतों पर दस्तखत किए, इनमें रेलवे, माइनिंग, पर्यटन, अंतरिक्ष अनुसंधान तथा वोकेशनल एजुकेशन से जुड़े समझौते भी शामिल हैं।

चीन भारतीय शहर चेन्नई में, जबकि भारत चीन के शहर शेंग्दू में एक-एक वाणिज्य दूतावास खोलने पर सहमत हुए हैं। दूरदर्शन और CCTV के बीच प्रसारण को लेकर भी समझौता हुआ है। माना जा रहा है कि इन समझौतों के बाद भारत और चीन के बीच व्यापारिक संतुलन सुधारने में काफी मदद मिलेगी।

  1. चेन्नई, चेंगदू में खुलेगा कॉन्सुलेट
  2. शिक्षा के आदान-प्रदान में सहयोग
  3. स्किल डेवलपमेंट पर सहयोग
  4. चीन के सहयोग से अहमदाबाद में स्किल डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट खुलेगा
  5. दोनों देशों की रेलवे के बीच एक्शन प्लान
  6. व्यापार क्षेत्र में सहयोग
  7. साथ मिलकर काम करेंगे दोनों देशों के विदेश मंत्रालय
  8. खनन और खनिज क्षेत्र में सहयोग
  9. अंतरिक्ष क्षेत्र में साथ मिलकर काम करेंगे
  10. दूरदर्शन-CCTV का साझा प्रसारण होगा
  11. पर्यटन क्षेत्र में सहयोग
  12. आयात के क्षेत्र में सेफ़्टी रेगुलेशन
  13. भारत-चीन के बीच बनेगा थिंक टैंक फ़ोरम
  14. चीन के डेवलपमेंट रिसर्च सेंटर और नीति आयोग के बीच सहयोग
  15. भूकंप विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में सहयोग
  16. समुद्र विज्ञान के क्षेत्र में सहयोग
  17. भू-विज्ञान क्षेत्र में सहयोग
  18. भारत-चीन स्टेट लीडर्स फ़ोरम बनेगा
  19. कर्नाटक, सिचुआन का साझा विकास
  20. चेन्नई, चोंग्किंग का साझा विकास
  21. हैदराबाद, चिंगदाओ का साझा विकास
  22. औरंगाबाद, दूनहुआंग का साझा विकास
  23. गांधीवादी अध्ययन के लिए सेंटर
  24. भारत के सहयोग से चीन के कुमनिंग में खुलेगा योग कॉलेज

प्रधानमंत्री मोदी चीन की यात्रा के दूसरे दिन जब चीनी प्रधानमंत्री से वार्ता के लिए यहां पहुंचे, तब ग्रेट हाल ऑफ पीपुल में उनका भव्य स्वागत किया गया। पीएम मोदी को गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया।

पीएम मोदी शियान में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ शिखर वार्ता के बाद देर रात बीजिंग पहुंचे। मोदी प्रतिष्ठित त्सिंगुआ यूनिवर्सिटी में छात्रों को संबोधित करेंगे और इसके बाद टेंपल ऑफ हैवन जाएंगे, जहां वह योगा-ताइची संयुक्त कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे। इसके बाद वह चीन दौरे के तीसरे चरण में शंघाई के लिए रवाना हो जाएंगे।

इससे पहले गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से मुलाकात की। सूत्रों के मुताबिक, दोनों नेताओं की बातचीत में पीएम मोदी ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में चीनी निवेश और स्टेपल वीज़ा का मुद्दा उठाया गया।

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com