NDTV Khabar

कश्मीर मामले पर पाक का साथ देने के बाद तुर्की के साथ संबंधों में खटास बढ़ी, भारत ने ट्रैवल एडवाइजरी जारी की

भारत ने बुधवार को तुर्की जाने वाले अपने नागरिकों के लिए एक यात्रा परामर्श (ट्रैवल एडवाइजरी) जारी कर उनसे यात्रा के दौरान बेहद सावधान रहने को कहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कश्मीर मामले पर पाक का साथ देने के बाद तुर्की के साथ संबंधों में खटास बढ़ी, भारत ने ट्रैवल एडवाइजरी जारी की

प्रतीकात्मक तस्वीर.

नई दिल्ली :

भारत ने बुधवार को तुर्की जाने वाले अपने नागरिकों के लिए एक यात्रा परामर्श (ट्रैवल एडवाइजरी) जारी कर उनसे यात्रा के दौरान बेहद सावधान रहने को कहा है. भारत ने यात्रा परामर्श का कारण बजाहिर उत्तरी सीरिया पर तुर्की के हमले के कारण उत्पन्न क्षेत्र के हालात को बताया है, लेकिन माना जा रहा है कि तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन द्वारा हाल ही में संयुक्त राष्ट्र के मंच पर जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान के खुले समर्थन से नाराज भारत ने तुर्की पर कूटनीतिक वार किया है. इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुर्की यात्रा को भी रद्द किया गया था. भारत ने इस यात्रा को पिछले हफ्ते रद्द कर दिया था. मोदी के 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद से उनकी तुर्की की यह पहली यात्रा होनी थी. दोनों पक्ष दो दिवसीय यात्रा पर सैद्धांतिक रूप से सहमत हो गए थे मगर औपचारिक रूप से कुछ भी घोषित नहीं किया गया था.  

कश्मीर मामले पर पाकिस्तान का साथ देने से नाराज भारत ने PM मोदी की तुर्की यात्रा रद्द की


मोदी को अगले सप्ताह होने वाली सऊदी अरब की यात्रा के बाद अंकारा जाना था. चूंकि, यात्रा की औपचारिक घोषणा नहीं हुई थी, इसलिए भारत की तरफ से कहा गया कि यात्रा तय ही नहीं हुई थी तो फिर इसे रद्द किए जाने की बात नहीं उठती. पिछले महीने संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाषण में एर्दोगन ने कश्मीर पर पाकिस्तान की स्थिति का जोरदार समर्थन किया और भारत द्वारा व्यापक मानव अधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगाया. उन्होंने बाद में घोषणा की थी कि वह हर मंचों पर कश्मीर मुद्दे को उठाएंगे. मलेशिया और चीन के साथ तुर्की ने पेरिस में फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की बैठक में भी पाकिस्तान का पक्ष लिया था. सरकार ने हालांकि स्पष्ट किया कि भारतीय नागरिकों को अभी तक तुर्की में कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. परामर्श में कहा गया है, "तुर्की में मौजूदा स्थिति को देखते हुए वहां की यात्रा करने वाले भारतीय नागरिकों की ओर से भारत सरकार से पूछताछ की जा रही है.  

टिप्पणियां

तुर्की के खिलाफ बहुत कड़ा रुख अपना रहा है अमेरिका: डोनाल्ड ट्रम्प

देश में अब तक हालांकि किसी अप्रिय घटना की कोई रिपोर्ट नहीं आई है, लेकिन यात्रियों से अनुरोध है कि तुर्की के लिए यात्रा करते समय अत्यधिक सावधानी बरतें." इसके साथ ही परामर्श में कहा गया है कि जो लोग सहायता चाहते हैं, वे अंकारा में भारतीय दूतावास से हेल्पलाइन नंबरों के जरिए संपर्क कर सकते हैं. दूतावास की ओर से हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए हैं. नागरिक किसी भी प्रकार की सहायता या जानकारी के लिए 903124408259, 903124382195, 902122962131 और 902122962132 नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं. माना जा रहा है कि भारत के इस यात्रा परामर्श से तुर्की पर प्रभाव पड़ेगा जो हाल के दिनों में भारतीय पर्यटकों की पसंदीदा जगहों में से एक बनकर सामने आया है. इस साल जनवरी से जुलाई के बीच में ही 130,000 भारतीय पर्यटक तुर्की गए जो संख्या पिछले पूरे साल की तुलना में 56 फीसदी अधिक है. 
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement