NDTV Khabar

भारतीय मूल की अमेरिकी पेप्सिको की पूर्व अध्यक्ष इंदिरा नूई को मिली 'नेशनल पोर्ट्रेट गैलेरी' में जगह

नूई को उनकी उपलब्धियों, अमेरिका के साझा इतिहास, विकास एवं संस्कृति पर प्रभाव के कारण गैलेरी में शामिल किया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारतीय मूल की अमेरिकी पेप्सिको की पूर्व अध्यक्ष इंदिरा नूई को मिली 'नेशनल पोर्ट्रेट गैलेरी' में जगह

इंदिरा नूई 'नेशनल पोर्ट्रेट गैलेरी' में शामिल

वाशिंगटन:

पेप्सिको की पूर्व अध्यक्ष भारतीय मूल की अमेरिकी इंदिरा नूई(Indira Nooyi)  को अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस के साथ प्रतिष्ठित 'नेशनल पोर्ट्रेट गैलेरी' में शामिल किया गया है. नूई को उनकी उपलब्धियों, अमेरिका के साझा इतिहास, विकास एवं संस्कृति पर प्रभाव के कारण गैलेरी में शामिल किया गया है. नूई ने गैलरी में शामिल किए जाने के लिए आयोजित कार्यक्रम में कहा, "एक प्रवासी, एक दक्षिण एशियाई प्रवासी और एक महिला को पोर्ट्रेट गैलरी में शामिल किया जाना... दिखाता है कि यहां लोग सकारात्मक प्रभाव डालने वाले लोगों की ओर देखते हैं और उनकी उपलब्धियों को सराहते हैं." उन्होंने कहा कि महिलाओं को स्वयं को दोयम दर्जे का नागरिक नहीं समझना चाहिए.


नूई ने 'पीटीआई' को दिए एक साक्षात्कार में कहा, "यह मायने नहीं रखता कि आपका जन्म कहां हुआ हैं और आपकी विरासत क्या थी. मुझे लगता है कि यदि आप मेहनत करते हैं, आप अपने काम में सकारात्मक योगदान देते हैं और आप ईमानदार हैं, तो अमेरिका आपको वह बनने का बड़ा अवसर मुहैया कराता है जो आप बनना चाहते हैं."
नूई  को अमेजन संस्थापक जेफ बेजोस, फ्रांसिस अर्नोल्ड, लिन-मैनुअल मिरांडा और 'अर्थ, विंड एंड फायर'  बैंड के साथ प्रतिष्ठित 'नेशनल पोर्ट्रेट गैलरी' में शामिल किया गया है.


पेप्सिको की कमाई में 80 फीसदी से अधिक इजाफा करने वाली कौन है इंद्रा नूयी, जानें उनके बारे में 7 बातें
 

आयोजित कार्यक्रम में अमेरिका की पूर्व प्रथम महिला मिशेल ओबामा और पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन समेत कई जानी-मानी हस्तियों ने शिरकत की. नूई ने कहा कि इससे लोगों को यह संदेश मिलता है कि अमेरिका एक ऐसा देश है जहां आप अपना भविष्य बना सकते हैं. उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि हम जैसे लोगों ने आगे बढ़कर महिलाओं के लिए मार्ग प्रशस्त किया है जिससे उन्हें सभी की तरह  शक्तिशाली और योगदान देने वालों के तौर पर देखा जा रहा है और इसलिए महिलाओं को स्वयं को दोयम दर्जे का नागरिक नहीं समझना चाहिए. उन्हें पता होना चाहिए कि वे भी परिदृश्य में शामिल हो गई हैं और आपकी कोई भी पृष्ठभूमि कोई भी हो, आपके योगदान पर ध्यान दिया जाएगा."


नूई ने कहा, "मुझे लगता है कि यही अहम बात है. भारतीय अमेरिकी होना, पोर्ट्रेट गैलरी में कारोबारी अग्रणियों के साथ शामिल किया जाना, इस बात का प्रमाण है कि यह देश आपके योगदान की परवाह करता है और इससे फर्क नहीं पड़ता कि आप कहां से आए हैं और आप कौन हैं."

उन्होंने कहा, "आज बहुत विशेष दिन है. ऐसा इसलिए है क्योंकि मुझे पोर्ट्रेट गैलरी की महत्ता समझ आने लगी है. मुझे इसके बारे में पता नहीं था, क्योंकि मैं कभी इसमें शामिल नहीं रही. इसलिए जब उन्होंने मुझे इस बारे में बताया तो मैं एक साल पूर्व यहां आई थी."नूई ने कहा कि 'पोर्ट्रेट गैलरी' सुंदर कहानी बयां करती है.यह केवल एक तस्वीर नहीं है."

टिप्पणियां

गौरतलब है कि नूई का चित्र कलाकार जौन फ्राइडमैन ने बनाया है. नूई ने कहा कि फ्राइडमैन ने बहुत अच्छा काम किया है.

VIDEO: जिंदगी भर आदमी सीखता है : इंदिरा नूई



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement