अमेरिका में कमल खिला : कमला हैरिस के नॉमिनेशन पर बोले भारतीय अमेरिकी

नवंबर में होने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के लिए राष्ट्रपति पद के डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडेन ने भारतीय-अफ्रीकी मूल की कमला हैरिस को अपने उप-राष्ट्रपति के पद के लिए कैंडिडेट के तौर पर चुना है, जिसके बाद से भारतीय समुदाय में काफी उत्साह देखा जा रहा है.

अमेरिका में कमल खिला : कमला हैरिस के नॉमिनेशन पर बोले भारतीय अमेरिकी

कमला हैरिस अगली अमेरिकी उप-राष्ट्रपति बनने की राह पर. (फाइल फोटो)

वॉशिंगटन:

नवंबर में होने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के लिए राष्ट्रपति पद के डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडेन ने भारतीय-अफ्रीकी मूल की कमला हैरिस को अपने उप-राष्ट्रपति के पद के लिए कैंडिडेट के तौर पर चुना है, जिसके बाद से भारतीय समुदाय में काफी उत्साह देखा जा रहा है. कई बड़ी भारतीय-अमेरिकी शख्सियतों के अलावा कई समूहों ने इस चयन का स्वागत किया है. खुद Pepsico की पूर्व प्रमुख इंदिरा नूयी ने इस नॉमिनेशन को 'बेहतरीन चयन' बताते हुे इसे 'अमेरिका में पूरे समुदाय के लिए गर्व का पल' कहा है. हालांकि, भारतीय समुदाय के कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिन्होंने हैरिस के भारतीय-अमेरिकी संबंधों के प्रति योगदान को लेकर सवाल उठाए हैं और कहा है कि वो 'आइडेंटिटी पॉलिटिक्स' से प्रभावित नहीं होंगे.

बता दें कि जो बाइडेन ने 55 साल की कमला हैरिस को डेमोक्रेटिक पार्टी का उप-राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाया है. ऐसा पहली बार है, जब कोई अश्वेत महिला बड़ी पार्टी की ओर से प्रेसिडेंशियल रेस में हो. कमला हैरिस के पिता जमैका से हैं, वहीं उनकी मां भारतीय मूल की हैं. फिलहाल हैरिस कैलिफोर्निया से सीनेटर हैं. बता दें कि हैरिस खुद राष्ट्रपति पद की रेस में थीं लेकिन इस साल की शुरुआत में बहुत समर्थन न मिलने के चलते कैंपेन से बाहर हो गई थीं.

यह भी पढ़ें: भारतीय मूल की कमला हैरिस को डोनाल्ड ट्रंप ने बताया 'सबसे डरावनी', कहा - बाइडेन के चुनाव से 'हैरान' हूं

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कमला हैरिस के समर्थकों ने मंगलवार को घोषणा की कि वो पूरे देश में 'अमेरिका में खिला कमल' कैंपेन चलाएंगे. कैलिफोर्निया के आंत्रप्रेन्योर अजय भूटोरिया ने बताया कि वो इस स्लोगन के साथ सोशल मीडिया पर पोस्ट और ग्राफिक्स वगैरह रिलीज करने की योजना बना रहे हैं. भूटोरिया ने जो बाइडेन के लिए भी- अमेरिका का नेता कैसा हो, जो बाइडेन जैसा हो- जैसा नारा तैयार किया है. 

Indiaspora के संस्थापक एमआर रंगास्वामी ने कहा, 'भारतीय-अमेरिकी समुदाय के लिए गजब उत्साह का मौक है. भारतीय-अमेरिकी अब सच में अमेरिका के राष्ट्रीय निर्माण में मुख्यधारा में जुड़ गए हैं.' भारतीय-अमेरिकी एडवोकेसी ग्रुप और पॉलिटिकल एक्शन कमिटी IMPACT ने तो इस नॉमिनेशन का स्वागत करते हुए यह तक कहा है कि वो हैरिस के कैंपेन के लिए 10 मिलियन अमेरिकी डॉलर जुटाएगा. संस्था के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर नील मखीजा ने कहा कि कमला हैरिस की कहानी बदलते अमेरिका की कहानी है और उनकी कैंडिडेसी बस अश्वेत अमेरिकियों के लिए ही नहीं, बल्कि पूरे एशियन अमेरिकन वोटर्स के लिए ऐतिहासिक और प्रेरणादायी है. .