NDTV Khabar

नौकरी छोड़ने पर कंपनी ने लगाए थे गंभीर आरोप, कोर्ट ने एंप्लॉय को दिलाए 40 लाख सिंगापुरी डॉलर

जब कृष्णन ने एएक्सए से रेफरेंस देने के लिए कहा तो कंपनी ने लिखा कि उसने ‘सततता के मामले में 13वें माह में बेहद खराब प्रदर्शन किया.’

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नौकरी छोड़ने पर कंपनी ने लगाए थे गंभीर आरोप, कोर्ट ने एंप्लॉय को दिलाए 40 लाख सिंगापुरी डॉलर

मानहानि का मुकदमा करने पर कर्मचारी को कंपनी से मिला मुआवजा.

सिंगापुर:

सिंगापुर में रहने वाले भारतीय मूल के 47 वर्षीय व्यक्ति को अपनी पूर्व कंपनी (Employers) से 40 लाख सिंगापुरी डॉलर का मुआवजा मिला है, क्योंकि कंपनी की ओर से लिखे गए तीखे पत्र के कारण उन्हें एक अन्य कंपनी में नौकरी नहीं मिल पाई थी. द स्ट्रेट्स टाइम्स की खबर के अनुसार, ‘एएक्सए से सबसे ज्यादा मुआवजा पाने वाले सलाहकार’ के रूप में पहचाने जा रहे रमेश कृष्णन ने कंपनी पर आरोप लगाया है कि कंपनी ने उनके कामकाज से जुड़े प्रदर्शन का उल्लेख करते हुए उनकी मानहानि की. रिपोर्ट में कहा गया कि वर्ष 2015 में कृष्णन हाईकोर्ट में मानहानि का मुकदमा हार गए थे लेकिन अपीली अदालत ने बाद में यह फैसला दिया कि एएक्सए ने अपने कर्तव्य का उल्लंघन किया.

ये भी पढ़ें: नाबालिग का यौन शोषण करने पर युवक को चार साल की सजा


जब कृष्णन ने एएक्सए से रेफरेंस देने के लिए कहा तो कंपनी ने लिखा कि उसने ‘सततता के मामले में 13वें माह में बेहद खराब प्रदर्शन किया.’ इसका अर्थ यह हुआ कि उसके कई क्लाइंट उनकी नीतियों के साथ नहीं जुड़े रहे. ‘हम इस बात को लेकर बेहद चिंतित हैं कि हमारे क्लाइंट्स को उचित सलाह दी गई कि नहीं.’

टिप्पणियां

वीडियो: एयर इंडिया की फ्लाइट को लेट करवाया तो लग सकता है 15 लाख तक का जुर्माना

अपीली अदालत ने किा कि इससे ऐसा गलत संदेश गया होगा कि कृष्णन योग्य नहीं है और यह बात इस तथ्य के भी अनुकूल नहीं है कि वह एएक्स के सर्वश्रेष्ठ वित्तीय सेवा निदेशकों में से एक थे और कंपनी ने एक बार पहले उन्हें इस्तीफा न देने के लिए राजी किया था.
इनपुट: भाषा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement