NDTV Khabar

अमेरिका में भारतीय महिला पर लगा 48 करोड़ का जुर्माना, करती थी ऐसा काम

हेमा पटेल और उसके साथी बिना उचित दस्तावेज वाले विदेशियों की रिहाई के लिए फर्जी बॉन्ड दस्तावेज बनाते थे. उससे पूर्व इन विदेशियों को एक अंतरराष्ट्रीय आपराधिक नेटवर्क मानव तस्करी के माध्यम से दक्षिण पश्चिम सीमा के जरिए अमेरिका में दाखिल करवाता था.’’

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमेरिका में भारतीय महिला पर लगा 48 करोड़ का जुर्माना, करती थी ऐसा काम

अमेरिका में भारतीय मूल की महिला को तीन साल की कैद

न्यूयॉर्क:

भारतीय मूल की 51 वर्षीय महिला को बिना दस्तावेज के सैकड़ों लोगों को मानव तस्करी के माध्यम से अमेरिका में लाने के जुर्म में तीन साल की जेल की सजा सुनाई गई. इस महिला पर 70 लाख डॉलर से अधिक का जुर्माना लगाया, जिन लोगों इस तरह अमेरिका लाया जाता था, उनमें से ज्यादातर भारत के होते थे और उनसे इसके बदले में 28,000 डॉलर से 60,000 डॉलर प्रति व्यक्ति लिए जाते थे. 

पिछले साल जून में हेमा पटेल ने वित्तीय लाभ के लिए धोखाधड़ी करके लोगों को अमेरिका में प्रवेश कराने का जुर्म स्वीकार कर लिया था. 

अमेरिका का चीन पर आरोप, कहा - धब्बा है ये देश, मुसलमानों और अल्पसंख्यकों को रखता है शिविरों में

पटेल को सैकड़ों अवैध लोगों की अमेरिका में तस्करी में उसकी भूमिका के लिए तीन साल की जेल की सजा सुनाई गई. होमलैंड सुरक्षा जांच (एचएसआई) न्यूयॉर्क की विशेष प्रभारी एजेंट एंजेल मेलेन्देज ने कहा, ‘‘यह सटीक उदाहरण है कि कैसे आपराधिक नेटवर्क अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा पहुंचाकर लाभ कमाने के लिए हमारे देश की आव्रजन व्यवस्था में कमियों का दुरुपयोग करते हैं.


Google Doodle: चांद पर कैसे पहुंचे नील आर्मस्ट्रॉन्ग, 5 मिनट के इस वीडियो में देखें Apollo 11 का पूरा सफर

हेमा पटेल और उसके साथी बिना उचित दस्तावेज वाले विदेशियों की रिहाई के लिए फर्जी बॉन्ड दस्तावेज बनाते थे. उससे पूर्व इन विदेशियों को एक अंतरराष्ट्रीय आपराधिक नेटवर्क मानव तस्करी के माध्यम से दक्षिण पश्चिम सीमा के जरिए अमेरिका में दाखिल करवाता था.''

टिप्पणियां

बिल गेट्स को पछाड़ बर्नार्ड अरनॉल्‍ट बने दुनिया के दूसरे सबसे अमीर आदमी, एक साल में बनाए 39 अरब डॉलर

इनपुट - भाषा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement