ब्रिटेन के चुनाव में नारायण मूर्ति के दामाद को भी मिली जीत, भारतीय मूल के इन नेताओं ने भी लहराया परचम

2017 के चुनाव में पहली ब्रिटिश सिख महिला सांसद के रूप में इतिहास रचने वाली प्रीत कौर गिल को उनके एजबेस्टन निर्वाचन क्षेत्र से फिर से चुना गया. उन्हें कुल 21,217 वोट मिले.

ब्रिटेन के चुनाव में नारायण मूर्ति के दामाद को भी मिली जीत, भारतीय मूल के इन नेताओं ने भी लहराया परचम

ब्रिटेन के चुनाव में भारतीय मूल के कई नेताओं की जीत

लंदन:

ब्रिटेन में हुए आम चुनावों में सत्तारूढ़ कंजर्वेटिव और विपक्षी लेबर पार्टी की ओर से चुनाव लड़ने वाले भारतीय मूल के राजनेताओं ने बड़ी जीत हासिल की है. भारतीय मूल की ब्रिटेन की गृह सचिव प्रीति पटेल (Priti Patel) को उनके विथम निर्वाचन क्षेत्र से फिर से चुना गया है.

पटेल ने ट्वीट किया, "मुझे अपने सांसद के रूप में फिर से निर्वाचित करने के लिए विथम निर्वाचन क्षेत्र के मतदाताओं का धन्यवाद. मैं आपकी मजबूत आवाज बनी रहूंगी."

एसेक्स लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, पटेल को 32,876 वोट मिले, जिससे पार्टी को लेबर के मुकाबले 66.6 फीसदी वोट मिले.

ब्रिटेन में हुए इलेक्शन में इन्फोसिस को-फाउंडर के दामाद ऋषि सुनाक ने भी बड़ी जीत हासिल की है. माना जा रहा है ऋषि सुनाक को ब्रिटेन जॉनसन कैबिनेट में अहम पद मिल सकता है.

बता दें, ऋषि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और स्टैनफोर्ड से एमबीए ग्रैजुएट हैं. वो 100 करोड़ डॉलर (करीब 7000 करोड़ रुपये) की ग्लोबल इनवेस्टमेंट फर्म के को-फाउंडर है और स्मॉल ब्रिटिश बिजनेस के इनवेस्टीगेशन में स्पेशलाइज्ड हैं. ऋषि सुनाक को इन चुनावों में 36,693 वोट मिले.

वहीं, पिछली बोरिस जॉनसन सरकार में ऋषि सुनाक को ट्रेजरी मिनिस्ट्री में मुख्य सचिव की जिम्मेदारी दी गई थी. ऋषि सुनाक ने नारायण मूर्ति की बेटी अक्षता मूर्ति से कैलिफोर्निया में शादी हो गई.

हर्टफोर्डशायर मर्करी की रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण पश्चिम हर्टफोर्डशायर निर्वाचन क्षेत्र में कंजर्वेटिव पार्टी के गगन मोहिंद्रा (Gagan Mohindra) ने 30,327 वोट प्राप्त किए. उन्होंने कुल 49.6 फीसदी वोट हासिल किए.

गोवा मूल के कंजर्वेटिव सांसद क्लेयर कॉटिन्हो ने पूर्वी सरे सीट से 24,040 मतों के साथ जीत दर्ज की.

विपक्षी लेबर पार्टी ने हालांकि इन चुनावों में 1935 के बाद से अपने सबसे बुरे नतीजों का सामना किया है, लेकिन पार्टी के कुछ भारतीय मूल के सांसद अपनी सीटों को बरकरार रखने में कामयाब रहे.

2017 के चुनाव में पहली ब्रिटिश सिख महिला सांसद के रूप में इतिहास रचने वाली प्रीत कौर गिल (Preet Gill) को उनके एजबेस्टन निर्वाचन क्षेत्र से फिर से चुना गया. उन्हें कुल 21,217 वोट मिले.

इसके अलावा सिख सांसद तनमनजीत सिंह ढेसी (Tanmanjeet Singh Dhesi) ने भी बर्कशायर निर्वाचन क्षेत्र से अपनी सीट बरकरार रखी.

Newsbeep

बुर्का पहने महिलाओं को ब्रिटेन के पीएम ने बोला 'लेटरबॉक्स', सिख सांसद ने यूं दिया करारा जवाब...देखें VIDEO

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं वीरेंद्र शर्मा (Virendra Sharma) ने भी अपनी ईलिंग साउथॉल सीट को बरकरार रखने में कामयाबी हासिल की.