NDTV Khabar

भारतीय मूल के वैज्ञानिक राकेश जैन सर्वोच्च अमेरिकी विज्ञान पुरस्कार से सम्मानित

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारतीय मूल के वैज्ञानिक राकेश जैन सर्वोच्च अमेरिकी विज्ञान पुरस्कार से सम्मानित
वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भारतीय मूल के एक अमेरिकी वैज्ञानिक और पाकिस्तानी मूल के एक अमेरिकी डॉक्टर को क्रमश: विज्ञान और तकनीक एवं नवाचार के क्षेत्र में दिए जाने वाले देश के सर्वोच्च पुरस्कारों से सम्मानित किया है।

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल और मैसाच्यूसेट्स जनरल हॉस्पिटल से जुड़े 65-वर्षीय राकेश के. जैन को नेशनल मेडल ऑफ साइंस से नवाज़ा गया। उन्हें यह पुरस्कार ट्यूमर के क्षेत्र में उनके काम और इससे जुड़ी रणनीतियों का इस्तेमाल इंसानों में कैंसर का बेहतर ढंग से पता लगाने में, उसकी रोकथाम में और उपचार में करने के लिए दिया गया।

टिप्पणियां
नेशनल मेडल ऑफ टेक्नोलॉजी एंड इनोवेशन प्राप्त करने वाले हुमायूं पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना के निजी चिकित्सक के पोते हैं। 53-वर्षीय हुमायूं को यह पुरस्कार चिकित्सा क्षेत्र में आविष्कार, विकास और बायो-इलेक्ट्रॉनिक्स के इस्तेमाल के लिए और अंधेपन का शिकार हो चुके लोगों को आंखों की रोशनी लौटाने में मददगार रेटिना संबंधी सर्जरी के लिए दिया गया।

विभाजन के बाद हुमायूं का परिवार जालंधर से पाकिस्तान चला गया था। उनके दादा कर्नल इलाही बख्श पाकिस्तान के संस्थापक जिन्ना के निजी चिकित्सक थे। हुमायूं का परिवार वर्ष 1972 में अमेरिका चला गया था। उस समय हुमायूं नौ साल के थे।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement