NDTV Khabar

अपर्याप्त स्तनपान से भारतीय अर्थव्यवस्था को पहुंच सकता है 14 अरब डॉलर का नुकसान: संयुक्त राष्ट्र

भारत में हर साल लगभग एक लाख बच्चे ऐसी बीमारियों से मरते हैं, जिन्हें सत्नपान के जरिये रोका जा सकता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अपर्याप्त स्तनपान से भारतीय अर्थव्यवस्था को पहुंच सकता है 14 अरब डॉलर का नुकसान: संयुक्त राष्ट्र

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. भारत में हर साल लगभग एक लाख बच्चे ऐसी बीमारियों से मरते हैं
  2. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 'ग्लोबल ब्रेस्टफीडिंग स्कोरकार्ड' जारी की है
  3. हर साल 2.36 लाख बच्चों की मौत हो जाती है
संयुक्त राष्ट्र: भारत में हर साल लगभग एक लाख बच्चे ऐसी बीमारियों से मरते हैं, जिन्हें स्तनपान के जरिये रोका जा सकता है. संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है. इसके साथ ही रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि अपर्याप्त स्तनपान के कारण होने वाली मौतों और अन्य नुकसानों से देश की अर्थव्यवस्था को 14 अरब डॉलर तक का नुकसान पहुंच सकता है.

यह भी पढ़ें : इजरायली नर्स ने फिलिस्तीनी बच्चे को कराया स्तनपान, पूरी दुनिया है हैरान

यूनिसेफ और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ग्लोबल ब्रेस्टफीडिंग कलेक्टिव के साथ मिलकर एक नई रिपोर्ट 'ग्लोबल ब्रेस्टफीडिंग स्कोरकार्ड' जारी की है. इसमें कहा गया है कि स्तनपान से न सिर्फ डायरिया और निमोनिया से बचने में मदद मिलती है, बल्कि मां के लिए गर्भाशय कैंसर और स्तन कैंसर के खतरे भी कम हो जाते हैं.  

यह भी पढ़ें : बच्चों को नियमित स्तनपान कराने से जल्दी गर्भधारण की संभावना कम'

वीडियो देखें :  मां ने अपनी नवजात बच्‍ची को स्‍तनपान कराने से इंकार किया



टिप्पणियां
चीन, भारत, नाइजीरिया, मैक्सिको और इंडोनेशिया में अपर्याप्त स्तनपान के कारण हर साल 2.36 लाख बच्चों की मौत हो जाती है. इन देशों में अपर्याप्त स्तनपान के कारण होने वाली मौतों और अन्य नुकसानों की वजह से अर्थव्यवस्था को प्रति वर्ष पहुंचने वाला नुकसान लगभग 119 अरब डॉलर का है. 
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement