सऊदी-ईरान संकट गहराया, कुवैत ने भी तेहरान से राजदूत वापस बुलाया

सऊदी-ईरान संकट गहराया, कुवैत ने भी तेहरान से राजदूत वापस बुलाया

कुवैत सिटी:

सऊदी अरब और ईरान के बीच कूटनीतिक संकट मंगलवार को और गहरा गया। बढ़ती अंतरराष्ट्रीय चिंता के मद्देनजर कुवैत ने अपने राजदूत को तेहरान से वापस बुला लिया।

रियाद और सुन्नी अरब सहयोगी देशों के साथ शामिल होते हुए कुवैत ने कहा कि यह तेहरान में सऊदी दूतावास पर हुए हमले को लेकर अपना राजदूत वापस बुला रहा है।

प्रदर्शनकारियों द्वारा ईरान में दूतावासों पर किए गए हमले का संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के द्वारा सख्त निंदा किए जाने के बाद कुवैत ने यह कदम उठाया है।

मुख्य सुन्नी शक्ति सऊदी अरब और शिया बहुल ईरान के बीच इस हफ्ते तनाव बढ़कर कूटनीतिक संकट में बदल गया, जिससे क्षेत्रीय अस्थिरता की चिंता पैदा हो गई है।

एक प्रमुख शिया धर्मगुरु को मौत की सजा दिए जाने को लेकर ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी ने मंगलवार को फिर से रियाद पर आरोप लगाया कि वह संबंधों को तोड़कर अपने गुनाहों को ढक रहा है।

उन्होंने इस बात का जिक्र किया कि तलवार से सिर कलम कर मौत की सजा देना सऊदी की पुरानी आदत है। अमेरिका और अन्य पश्चिमी शक्तियों ने शांति की अपील की है क्योंकि उन्हें डर है कि यह विवाद समूचे मध्य-पूर्व में साम्प्रदायिक तनाव को बढ़ा सकता है और सीरिया से लेकर यमन तक संघर्षों को हल करने की कोशिशों को पटरी से उतार सकता है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सुरक्षा परिषद ने तेहरान में सऊदी दूतावास और ईरान के मशहाद शहर में इसके वाणिज्य दूतावास पर हुए प्रदर्शनकारियों के हमले की सख्त निंदा की है, लेकिन उसने इस संकट को जन्म देने वाले कारण का जिक्र नहीं किया।

सऊदी अरब ने तेहरान के साथ रविवार को राजनयिक संबंध तोड़ लिया और ईरान के साथ वायु संपर्क भी तोड़ दिया।