NDTV Khabar

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी बोले - यदि अमेरिका प्रतिबंध बढ़ाना जारी रखता है तो परमाणु समझौते से अलग हो जाएंगे

परमाणु संधि को लेकर रूहानी का यह बयान ईरान द्वारा मिसाइल परीक्षण और हमले किए जाने और वाशिंगटन की ओर से नए प्रतिबंध लगाए जाने के बाद बढ़ते दबाव के बीच आया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी बोले - यदि अमेरिका प्रतिबंध बढ़ाना जारी रखता है तो परमाणु समझौते से अलग हो जाएंगे

अमेरिका को ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने दी है चेतावनी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. संसद में दिए भाषण में उन्होंने डोनाल्ड ट्रंप पर निशाना भी साधा
  2. कहा कि उन्होंने दुनिया को दिखा दिया कि वाशिंगटन ‘एक अच्छा साझेदार नहीं’.
  3. दोनों ही पक्ष एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं .
तेहरान:

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने मंगलवार को यह चेतावनी दी कि अगर अमेरिका नए प्रतिबंध लगाना जारी रखता है तो ईरान वर्ष 2015 में वैश्विक शक्तियों के साथ हुए परमाणु समझौते को चंद घंटों में छोड़ सकता है. संसद में दिए भाषण में उन्होंने अपने अमेरिकी समकक्ष डोनाल्ड ट्रंप पर निशाना भी साधा और कहा कि उन्होंने दुनिया को दिखा दिया कि वाशिंगटन ‘एक अच्छा साझेदार नहीं’ है.

परमाणु संधि को लेकर रूहानी का यह बयान ईरान द्वारा मिसाइल परीक्षण और हमले किए जाने और वाशिंगटन की ओर से नए प्रतिबंध लगाए जाने के बाद बढ़ते दबाव के बीच आया है. दोनों ही पक्ष एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं कि सामने वाले ने समझौते की मूल भावना का उल्लंघन किया है.

यह भी पढ़ें : इस्लामिक स्टेट ने ईरान पर फिर हमले की धमकी दी


रूहानी ने चेतावनी दी कि अगर वाशिंगटन प्रतिबंध लगाना जारी रखता है, तो ईरान परमाणु संधि से हटने के लिए तैयार है. इस संधि के तहत कहा गया था कि यदि ईरान अपने परमाणु कार्यक्रम पर नियंत्रण करता है तो उसके अधिकतर अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों को हटा लिया जाएगा.

उन्होंने टीवी पर दिए संबोधन में कहा, ‘प्रतिबंधों और जबरदस्ती के विफल अनुभव पिछले प्रशासनों को वार्ता की मेज पर लेकर आए.’ उन्होंने कहा, ‘यदि वे छोटी सी अवधि में :सप्ताहों या महीनों में नहीं बल्कि कुछ घंटों और दिनों में: इस अनुभव को दोबारा लेना चाहते हैं तो हम अपनी पिछली स्थिति में पहले से कहीं अधिक मजबूत होकर लौट आएंगे.’ रूहानी ने कहा कि ट्रंप ने दिखा दिया है कि वह सिर्फ ईरान के लिए नहीं बल्कि अमेरिकी सहयोगियों के लिए एक अविश्वसनीय सहयोगी हैं.

टिप्पणियां

VIDEO : वर्ष 2016 में भारत और ईरान के बीच हुए थे 12 करार​ रूहानी ने कहा कि ट्रंप ने दिखा दिया है कि वह सिर्फ ईरान के लिए नहीं बल्कि अमेरिकी सहयोगियों के लिए एक अविश्वसनीय सहयोगी हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement