250 किलो वजनी ISIS से जुड़े मौलवी को गिरफ्तार कर कार में डालने में हुई दिक्कत तो मंगाया गया ट्रक

इराकी बलों की टीम 'स्वात' ने हाल में मोसुल शहर से एक ISIS मौलवी को गिरफ्तार किया है. यह मौलवी सोशल मीडिया पर 'जब्बा द जिहादी' के रूप में चर्चा में था.

250 किलो वजनी ISIS से जुड़े मौलवी को गिरफ्तार कर कार में डालने में हुई दिक्कत तो मंगाया गया ट्रक

मौलवी अबु अब्दुल बारी आतंकी संगठन ISIS का एक महत्वपूर्ण नेता था.

खास बातें

  • 250 किलोग्राम से ज्यादा वजनी मौलवी के लिए मंगवाया गया पिकअप ट्रक
  • ISIS का समर्थन नहीं करने वाले मौलवियों की हत्या के लिए दिए थे फतवे
  • सोशल मीडिया पर 'जब्बा द जिहादी' नाम से था मशहूर
नई दिल्ली:

इराकी बलों की टीम 'स्वात' ने हाल में मोसुल शहर से एक ISIS मौलवी को गिरफ्तार किया है. यह मौलवी सोशल मीडिया पर 'जब्बा द जिहादी' के रूप में चर्चा में था. हालांकि इस गिरफ्तारी के बाद टीम को मौलवी को कार में बैठाने में बड़ी दिक्कत हुई, क्योंकि मौलवी का साइज कार के हिसाब से काफी बड़ा था. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मौलवी का वजन 560 पाउंड यानी 250 किलोग्राम था. इसके बाद टीम ने एक पिकअप ट्रक बुलाया और मौलवी को उसमें लादकर ले जाया गया है. 

चीन की प्रति व्यक्ति GDP पहली बार 10,000 डॉलर के पार

इराकी बलों के एक आधिकारिक बयान के अनुसार, 'गिरफ्तार मौलवी अबु अब्दुल बारी आतंकी संगठन ISIS का एक महत्वपूर्ण नेता था और उसको 'सुरक्षा बलों के खिलाफ भड़काऊ भाषण' देने के लिए जाना जाता था.' बयान में आगे कहा गया कि बारी ने उन मौलवियों के खिलाफ हत्या के फतवे दिए जिन्होंने ISIS का समर्थन करने से इंकार कर दिया था. इसके अलावा लंदन में रहने वाले एक इस्लामी-विरोधी चरमपंथ कार्यकर्ता माजिद नवाज़ ने फेसबुक पर बारी और उसके कृत्यों के बारे में एक लंबी पोस्ट लिखी. इस पोस्ट के साथ उसने मौलवी का एक फोटो भी पोस्ट किया था.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com