आईएस का दावा, भारतीय आत्मघाती हमलावर ने सीरिया में बड़ी संख्या में लोगों को मारा

सीरिया के उत्तर पश्चिमी राका शहर में किए गए आत्मघाती हमले में कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी (पीकेके) के सदस्य मारे गए

आईएस का दावा, भारतीय आत्मघाती हमलावर ने सीरिया में बड़ी संख्या में लोगों को मारा

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • अमेरिका ने जून में अबू को वैश्विक आतंकवादी घोषित किया था
  • आईएस ने अपनी प्रोपगैंडा एजेंसी अमाक के जरिए बयान जारी किया
  • भारतीय एजेंसियों ने आईएस के दावे के बारे में कोई पुष्टि नहीं की
नई दिल्ली:

इस्लामिक स्टेट ने सोमवार को  दावा किया कि एक भारतीय आत्मघाती हमलावर ने सीरिया के उत्तर पश्चिमी राका शहर में एक हमले में ‘बड़ी संख्या में ’ लोगों की जान ले ली.

अमेरिका स्थिति निगरानी कंपनी एसआईटीई इंटेलिजेंस ग्रुप के अनुसार आईएस ने अपनी प्रोपगैंडा एजेंसी अमाक के जरिए अरबी भाषा में एक बयान जारी कर कथित भारतीय आत्मघाती हमलावर का नाम अबू यूसुफ अल-हिन्दी बताया है. आतंकवादी समूह का दावा है कि भारतीय हमलावर की संलिप्तता वाले आत्मघाती हमले में ‘बड़ी संख्या में’ कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी (पीकेके) के सदस्य मारे गए. हालांकि भारतीय एजेंसियों ने आईएस के दावे के बारे में कोई पुष्टि नहीं की है.

यह भी पढ़ें : सउदी अरब से लाए गए जीशान का भाई और साला भी आतंकवादी, एजेंसियों को मिली अहम जानकारी

अबू यूसुफ अल-हिन्दी भारतीय उपमहाद्वीप में आईएसएस के लिए भर्ती करने वाला प्रमुख व्यक्ति था और वह मोहम्मद शफी अरमार के नाम से जाना जाता था, जिसके ‘छोटा मौला’ और ‘अंजान भाई’ जैसे कई उपनाम थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : लापता युवक संदेह के घेरे में


अमेरिका ने इस साल जून में 30 वर्षीय अबू को ‘वैश्विक आतंकवादी’ घोषित किया था. उसके खिलाफ इंटरपोल ने भी रेड कार्नर नोटिस जारी किया था. अल-हिन्दी कर्नाटक के भटकल का रहने वाला था.
(इनपुट एजेंसी से)