NDTV Khabar

आईएसआईएस ने ब्रिटिश संसद पर हमले की जिम्मेदारी ली, आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया

8 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
आईएसआईएस ने ब्रिटिश संसद पर हमले की जिम्मेदारी ली, आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया
लंदन: ब्रिटिश संसद पर हमले के बाद लंदन और बर्मिंघम में आतंकवाद निरोधी अधिकारियों की छापेमारी में आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है. हमले की जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली है. प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने हाउस ऑफ कॉमंस को बताया, ‘‘हम डरे नहीं हैं. आतंकवाद की गतिविधि ने हमारे लोकतंत्र को खामोश करने का प्रयास किया है, लेकिन हम आज सामान्य रूप से मिल रहे हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं सिर्फ इतना कह सकती हूं कि यह व्यक्ति ब्रिटेन में पैदा हुआ था और कुछ साल पहले हिंसक चरमपंथ को लेकर उसकी जांच हुई थी. वह गौण व्यक्तित्व था.’’ उधर, आईएसआईएस की अपनी दुष्प्रचार समाचार एजेंसी ‘अमाक’ ने दावा किया है कि ‘खिलाफत के सिपाही’ ने ब्रिटिश संसद पर हमले को अंजाम दिया. उसने बयान में कहा, ‘‘गठबंधन देशों को निशाना बनाने के लिए इस अभियान को अंजाम दिया गया.’’

प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने पुष्टि की है कि हमले के बाद लंदन और बर्मिंघम में चलाए गए छापेमारी अभियान में आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया. महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने पुलिस को भेजे अपने संदेश में कहा, ‘‘कल की घृणित हिंसा से प्रभावित हुए लोगों के साथ मेरी संवेदना और प्रार्थना है.’’

ब्रिटिश संसद पर इस्लामी कट्टरपंथियों से संबंधित आतंकवादी हमले में हमलावर सहित चार लोग मारे गए हैं. स्कॉटलैंड यार्ड के कार्यवाहक उपायुक्त और आतंकवाद निरोधक विभाग के प्रमुख मार्क रॉली ने कहा कि जांच अहम स्तर पर है और हमलावर की पहचान जारी नहीं की जा रही है क्योंकि छानबीन में संदिग्ध की मंशा, उसकी तैयारी और साथियों के बारे में जानकारी एकत्र करने की कोशिश की जा रही है.

उन्होंने कहा कि बर्मिंघम, लंदन और देश के अन्य भागों की जांच जारी है. यह हमारा विश्वास है कि इस हमलावर ने अकेले कृत्य किया था और अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद से प्रेरित था और यह हमारी जांच में निकल के भी आ रहा है. जनता को आगे के खतरे के बारे में इस स्तर पर स्पष्ट होने के लिए हमारे पास कोई पुख्ता जानकारी नहीं है. रॉली ने पुष्टि की कि पीड़ितों में कई राष्ट्र के लोग शामिल हैं जिनमें लगभग 40 साल की एक महिला और तकरीबन 50 साल का पुरुष भी शामिल है.

रॉली ने कहा कि हम आतंकवादियों को फूट, अविश्वास और डर पैदा नहीं करने देंगे. हम सभी समुदायों के साथ खड़े हैं- आज दिन में धार्मिक नेताओं के साथ यहां न्यू स्कॉटलैंड यार्ड में एक बैठक होगी. रात में, वेस्ट मिडलैंड पुलिस अधिकारी शहर में दूसरी मंजिल पर स्थित एक फ्लैट में घुसे और लोगों को हथकड़ी लगाकर ले गए. समझा जाता है कि यह घर चाकू से हमला करने वाले हमलावर का है.

वेस्ट मिडलैंड्स पुलिस ने वारदात के बाबत सभी जांचों को मेट्रोपोलिटियन पुलिस को भेज दिया है. हमलावर पूरी रफ्तार से कार चलाकर आया और संसद भवन के द्वार पर एक पुलिस अधिकारी को चाकू घोंप दिया जिसके बाद स्कॉटलैंड यार्ड के अधिकारियों ने उसे गोली मार दी. यह भी सामने आया है वेस्टमिनिस्टर ब्रिज पर पैदल यात्रियों को कुचलने के संदिग्ध ने जिस कार का इस्तेमाल किया था वह कथित तौर पर बर्मिंघम के सोलीहुल्ल इलाके से ली गई थी. न्यू स्कॉटलैंड के परिसर में लगे झंडे को हमले के बाद आधा झुका दिया गया है क्योंकि इसमें उनके एक अधिकारी पीसी कैथ पालमर की जान ले ली है जो संसद की सुरक्षा में तैनात थे.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने उनकी राजधानी की सड़कों पर हुए भद्दे और दुष्ट आतंकवादी हमले की निंदा की है. उन्होंने कहा, ‘‘हम सब साथ मिलकर आगे बढ़ेंगे. आतंक के आगे कभी नहीं झुकेंगे और नफरत और दुष्ट आवाजों को हमें अलग नहीं करने देंगे.’’ इस बीच लंदन के मेयर सादिक खान ने सभी लंदनवासियों और राजधानी आए लोगों को आतंकी हमले के पीड़ितों के साथ एकजुट दिखाने के लिए ट्राफलगर स्क्वायर पर मोमबत्ती मार्च के लिए आमंत्रित किया है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement