अमेरिका ने आतंकी हमले पर दुनियाभर में अपने नागरिकों को जारी किया परामर्श

अमेरिका ने आतंकी हमले पर दुनियाभर में अपने नागरिकों को जारी किया परामर्श

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

वाशिंगटन:

अमेरिका ने आतंकवाद के बढ़ते खतरे को देखते हुए अपने नागरिकों को भारत सहित विश्वभर में आतंकवाद संबंधी यात्रा परामर्श जारी किया है। अमेरिका ने परामर्श में लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकवादी संगठन का उल्लेख किया है, जो भारत के लिए गंभीर खतरा बना हुआ है।

अमेरिका ने यह कदम विशेष रूप से इस्लामिक स्टेट के बढ़ते वैश्विक प्रभाव को देखते हुए उठाया है। एक आधिकारिक बयान में बुधवार को कहा गया कि अगस्त 2014 में अमेरिका और क्षेत्रीय सहयोगियों ने सीरिया और इराक में आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड लेवांत (आईएसआईएल) के खिलाफ सैन्य कार्रवाई शुरू की। इसी की प्रतिक्रिया में आतंकी विदेशी नागरिकों पर हमला कर सकते हैं।

अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने कहा, 'हवाई हमलों की प्रतिक्रिया में आईएसआईएल ने अपने समर्थकों से विदेशियों पर हमला करने को कहा। अधिकारियों का मानना है कि अमेरिका, पश्चिम और दुनिया भर में इसके गठबंधन सहयोगी के हितों खासकर पश्चिम एशिया, उत्तर अफ्रीका, यूरोप और एशिया के खिलाफ बदले में किए जाने वाले हमलों के बढ़ने की संभावना है।' इसके अनुसार, भारत लगातार आतंकवादी और विद्रोही गतिविधियों का सामना कर रहा है, जो अमेरिकी नागरिकों को सीधे तौर पर या अप्रत्यक्ष तौर पर प्रभावित कर सकता है।

भारत में इस्लामिक आतंकवादी समूह जैसे कि हरकत-उल-जिहाद-ए-इस्लामी, हरकत उल-मुजाहिदीन, इंडियन मुजाहिदीन, जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा सहित पश्चिम-विरोधी आतंकवादी समूह सक्रिय हैं।

इससे पहले किए गए हमलों में शहरी इलाकों के उन सार्वजनिक जगहों को निशाना बनाया गया जहां पश्चिमी देशों के नागरिकों का बराबर आना जाना होता है जैसे कि पंचतारा और अन्य तरह के होटल, रेलवे स्टेशन, बाजार, सिनेमाघर, मस्जिद और रेस्तरां।

इसके अनुसार, ये हमले बाजार या अन्य भीड़ भाड़ वाली जगहों पर शाम के दौरान किए गए, लेकिन ये किसी भी समय हो सकते हैं।

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com