NDTV Khabar

इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने लगातार दूसरी बार रद्द की भारत यात्रा, PM मोदी से की बात और...

इस्राइल (Israel) के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) ने मंगलवार को देश में मध्यावधि चुनाव का हवाला देकर 9 सितंबर की भारत की अपनी निर्धारित यात्रा रद्द कर दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने लगातार दूसरी बार रद्द की भारत यात्रा, PM मोदी से की बात और...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ इस्राइल के PM बेंजामिन नेतन्याहू. (फाइल फोटो)

येरुशलम:

इस्राइल (Israel) के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) ने मंगलवार को देश में मध्यावधि चुनाव का हवाला देकर 9 सितंबर की भारत की अपनी निर्धारित यात्रा रद्द कर दी. वह एक दिन की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से मुलाकात करने वाले थे. सूत्रों ने बताया कि नेतन्याहू ने मंगलवार सुबह मोदी से बात की. इस दौरान इस्राइल में 17 सितंबर को होने वाले चुनाव की वजह से दोनों नेता नेतन्याहू की नई दिल्ली की निर्धारित यात्रा को रद्द किए जाने पर सहमत हो गए. यह इस साल दूसरी बार है जब इस्राइल के नेता ने भारत की अपनी निर्धारित यात्रा को रद्द किया है. वह अप्रैल में हुए चुनाव से पहले भी भारत की अपनी यात्रा को रद्द कर चुके हैं.

इस्राइल के PM ने Friendship Day पर कहा- 'ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे' तो PM मोदी ने किया यह Tweet...


दरअसल, नेतन्याहू की भारत की यात्रा को इस्राइल में इस नज़रिये से देखा जा रहा था कि वह 17 सितंबर को होने वाले चुनाव से पहले दुनिया भर में अपनी स्वीकार्यता दिखाने की कोशिश कर रहे हैं और अपने प्रचार को गति देने का प्रयास कर रहे हैं. जुलाई में, नेतन्याहू की लिकुद पार्टी ने मतदाताओं को रिझाने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तथा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ उनकी तस्वीर वाले बैनर लगाए थे. 

affk73g8

नेतन्याहू का प्रचार विश्व के नेताओं के साथ उनके करीबी तालमेल को प्रदर्शित करने की कोशिश है. प्रचार अभियान में यह दिखाने की कोशिश की जा रही है कि नेतन्याहू को इस्राइल की राजनीति में एक ऐसे नेता के तौर पर पेश किया जाए, जिसका कोई जोड़ न हो, जो देश की सुरक्षा के लिए अहम है.

बेंजामिन नेतन्याहू को इस्राइली चुनाव में भी 'मोदी लहर' की उम्मीद, देखें Video

टिप्पणियां

बता दें कि देश में 9 अप्रैल को हुए चुनाव में किसी भी दल को बहुमत नहीं मिला था और नेतन्याहू गठबंधन सरकार बनाने में विफल रहे थे. इसके बाद इस्राइल के सांसदों ने मई में 21वीं संसद को भंग करने के प्रस्ताव को 45 के मुकाबले 74 मतों से पारित कर दिया था.

VIDEO: आतंक के खिलाफ मिलकर लड़ेंगे भारत और इस्राइल



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement