यह ख़बर 01 सितंबर, 2014 को प्रकाशित हुई थी

भारत में 34 अरब डॉलर का निवेश करेगा जापान, परमाणु समझौता नहीं हुआ

भारत में 34 अरब डॉलर का निवेश करेगा जापान, परमाणु समझौता नहीं हुआ

टोक्यो:

भारत और जापान ने अपने संबंधों को 'सामरिक वैश्विक भागीदारी' से बढ़ा कर 'विशेष सामरिक वैश्विक भागीदारी' के स्तर पर ले जाने की आज घोषणा की और जापान ने अगले पांच साल में भारत में निजी और सार्वजनिक क्षेत्र में 34 अरब डॉलर का निवेश करने का ऐलान किया। लेकिन दोनों देश के बीच असैन्य परमाणु समझौता नहीं हो पाया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के उनके समकक्ष शिंज़ो आबे ने शिखर वार्ता के दौरान अपनी सामरिक भागीदारी में द्विपक्षीय रक्षा संबंधों के महत्व की पुष्टि की और रक्षा उपकरणों तथा प्रौद्योगिकी में सहयोग का और अधिक विस्तार करने पर सहमत हुए।

Newsbeep

मोदी की पांच दिवसीय जापान यात्रा के तीसरे दिन दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच शिखर वार्ता हुई। इसमें दोनों देश यूएस-2 नभ-जल विमान भारत को बेचने संबंधी वार्ता तेज करने भी सहमत हुए।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


शिखर वार्ता के बाद संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में आबे ने घोषणा की कि भारत-जापान सहयोग की मिसाल के तौर पर तोक्यो भारत को वित्तीय, प्रौद्योगिकी और बुलेट ट्रेन के संचालन में सहयोग करेगा।