'संयुक्त राष्ट्र के पैनल ने विकीलीक्स के संस्थापक असांजे की हिरासत को बताया अवैध'

'संयुक्त राष्ट्र के पैनल ने विकीलीक्स के संस्थापक असांजे की हिरासत को बताया अवैध'

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे की फाइल फोटो (रॉयटर्स)

स्टॉकहोम:

स्वीडन के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि आर्ब्रिटरी डिटेंशन पर संयुक्त राष्ट्र के कार्यकारी समूह ने फैसला दिया है कि लंदन के इक्वाडोर दूतावास में जूलियन असांजे का फंसे रहना अवैध हिरासत की तरह है।

पैनल की रिपोर्ट प्रकाशित होने के एक दिन पहले विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा, 'हम बस यह कह सकते हैं कि कार्यकारी पैनल स्वीडिश न्यायिक प्राधिकार से अलग फैसले पर पहुंचा है।'

विकीलीक्स के संस्थापक का स्वीडन में बलात्कार के आरोप में प्रत्यर्पण वांछित है और वह जून 2012 से दूतावास में रह रहे हैं। गुरुवार को इससे पहले उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अगर पैनल उनके पक्ष में फैसला देता है तो उनसे एक आजाद व्यक्ति के तौर पर सलूक किया जाएगा।

सितंबर 2014 में असांजे ने स्वीडन और ब्रिटेन के खिलाफ यूएनडब्लूजीएडी में एक शिकायत दर्ज कराते हुए दावा किया था कि दूतावास में उनका फंसे रहना अवैध हिरासत की तरह है। असांजे के स्वीडिश वकील पेर सेमुलसन ने कहा कि उनके मुवक्किल के पक्ष में फैसले का मतलब है कि अभियोजक मरीने नाय को अदालत से कहना होगा कि उनके खिलाफ जारी गिरफ्तारी वारंट को खत्म किया जाए।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com