NDTV Khabar

नेपाल के नए प्रधानमंत्री नियुक्त हुए के पी ओली

देउबा ने टेलीविजन के जरिए राष्ट्र को संबोधित करने के दौरान इस्तीफे की घोषणा की. साल 2015 में नए संविधान की घोषणा के बाद उनकी सरकार को सफल चुनाव कराने का श्रेय जाता है.

65 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
नेपाल के नए प्रधानमंत्री नियुक्त हुए के पी ओली

के पी ओली की फाइल फोटो

खास बातें

  1. 30 दिन के भीतर बहुमत साबित करेंगे ओली
  2. मौजूदा पीएम ने सौंपा इस्तीफा
  3. मौजूदा पीएम ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए की इस्तीफा देने की घोषणा
नई दिल्ली: नेपाल के राष्ट्रपति देवी भंडारी ने के पी ओली को नेपाल के नए प्नधानमंत्री के रूप में नियुक्त किया है. ओली ने पूर्व प्रधानमंत्री शेरबहादुर देउबा की जगह ली है. देउबा ने गुरुवार को ही अपने पद से इस्तीफा दिया था. ओली नेपाल के 41वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करेंगे. इससे पहले देउबा ने टेलीविजन के जरिए राष्ट्र को संबोधित करते हुए पद से इस्तीफा देने की घोषणा की थी. इसके बाद ही राष्ट्रपति कार्यालय की ओर से कहा गया कि सुबह माओवादी केंद्र के अध्यक्ष पुष्प कमल दहल 'प्रचंड ' के साथ ओली ने राष्ट्रपति बिद्या से मुलाकात की और बहुमत के आधार पर सरकार बनाने का दावा पेश किया.

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी की राजनीति अलोकतांत्रिक है : बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

ओली की कम्युनिस्ट पार्टी ने संसद में बहुमत के करीब सीटें जीती हैं और इसे सरकार गठित करने के लिए नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी केंद्र) का समर्थन भी प्राप्त है. ओली अपनी पार्टी सीपीएन-यूएमएल और नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी केंद्र) से एक छोटा कैबिनेट गठित कर सकते हैं.

टिप्पणियां
VIDEO: केजरीवाल ने कहा वादों पर खड़ी उतरी हमारी सरकार


 गौरतलब है कि सीपीएन-यूएमएल और नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी केंद्र) का जल्द ही विलय होने वाला है.
(विशेष इनपुट आईएएनएस से) 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement