NDTV Khabar

नॉर्थ कोरिया के नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई की मलेशिया में हत्या, शव का पोस्टमार्टम हुआ

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नॉर्थ कोरिया के नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई की मलेशिया में हत्या, शव का पोस्टमार्टम हुआ

किम जोंग उन (फाइल फोटो)

कुआलालम्पुर:

उत्तर कोरिया के तानाशाह नेता किम जोंग उन के सौतेले भाई की मलेशिया में हत्या हो गई है. कहा जा रहा है कि जहरीली सुईं के जरिए उनका मर्डर किया गया. मलेशियाई पुलिस ने कथित तौर पर आज कहा कि उन्होंने हत्या कांड के संबंध में एक अन्य महिला को हिरासत में लिया है.

वहीं चिकित्सकीयकर्मियों ने उत्तर कोरिया के नेता के सौतेले भाई किम जोंग नाम के शव का पोस्टमार्टम कर लिया है. किम जोंग नाम जब इस सप्ताह मलेशिया में एक विमान का इंतजार कर रहे थे तभी दो महिला हत्यारों ने कथित तौर पर जहर देकर उनकी हत्या कर दी थी.

मलेशियाई पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी अब्दुल समाह मत ने बताया कि यह तत्काल स्पष्ट नहीं हो पाया है कि मलेशिया रिपोर्ट सार्वजनिक करेगा या नहीं और यदि सार्वजनिक करेगा तो कब करेगा. उत्तर कोरिया ने शव का परीक्षण किए जाने पर आपत्ति जताई है और किम जोंग नाम के शव को वापस भेजे जाने की मांग की है. उत्तर कोरिया ने इस बारे में कोई औपचारिक विरोध दर्ज नहीं कराया जिसके कारण मलेशिया ने इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाया.


पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आने पर मौत का कारण पता लग सकता है
पोस्टमार्टम का परिणाम सामने आने से मौत के कारण का पता लगाने में मदद मिल सकती है. इस बात की अटकलें लगाई जा रही हैं कि किम जोंग नाम की हत्या के लिए उत्तर कोरिया ने कोई दस्ता भेजा था. पोस्टमार्टम देर रात पूरा किया गया. इससे कुछ ही घंटों पहले पुलिस ने इस मामले में एक महिला संदिग्ध को गिरफ्तार किया. गिरफ्तार की गई महिला के पास वियतनामी यात्रा दस्तावेज हैं जिन पर उसका नाम दुआन थी हुओंग लिखा हुआ है.

टिप्पणियां

चाचा को भूखे कुत्तों के आगे छुड़वा दिया था
इससे पहले उत्तर कोरियाई नेता के चाचा जांग सोंग-थाएक की दिसंबर 2013 में हत्या हुई थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक- उन्हें भूखे कुत्तों के आगे छोड़ दिया गया था.

ऐसे दिया गया हत्या को अंजाम
सेलांगोर राज्य के आपराधिक जांच प्रमुख फदजिल अहमद के हवाले से मलेशिया के ‘द स्टार’ समाचार पत्र ने कहा, ‘उन्होंने प्रस्थान हॉल में रिसेप्शनिस्ट को बताया कि किसी ने उनका चेहरा पीछे से पकड़ा और उन पर कोई तरल पदार्थ छिड़क दिया.’ फदजिल ने कहा, ‘उन्होंने मदद मांगी और उन्हें तत्काल हवाईअड्डे के क्लीनिक भेजा गया. उस समय उनके सिर में दर्द हो रहा था और वह अंतिम सांसें ले रहे थे. उन्होंने कहा, ‘क्लीनिक में पीड़ित को हल्का दौरा पड़ा. उन्हें एम्बुलेंस के जरिए पुत्रजय अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित किया गया.’ किम जोंग नाम एक समय उत्तर कोरिया का नेतृत्व संभालने वाले थे लेकिन वर्ष 2001 में फर्जी पासपोर्ट के सहारे जापान में प्रवेश की शर्मनाक कोशिश के बाद उन्हें समर्थन नहीं मिल पाया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement