उत्तर कोरिया का बिना शर्त बातचीत का आह्वान

खास बातें

  • उत्तर कोरिया अंतर कोरियाई आर्थिक सहयोग के कार्यालयों को सीमावर्ती शहर केसॉन्ग में स्थित तथा उत्तर व दक्षिण कोरिया द्वारा संयुक्त रूप से संचालित औद्योगिक पार्क में दोबारा खोलना चाहता है।
सियोल:

उत्तर कोरिया ने शनिवार को एक बार फिर दक्षिण कोरिया के समक्ष बिना शर्त बातचीत का आह्वान किया। साथ ही उसने एक महीने के भीतर ही यह वार्ता आयोजित करने का प्रस्ताव रखा है। उत्तर कोरिया की शांतिपूर्ण एकीकरण समिति ने एक बयान में कहा, "हमने बिना शर्त बातचीत करने का एक औपचारिक प्रस्ताव रखा है और दोनों देशों के प्रशासनिक अधिकारियों को जल्दी वार्ता शुरू करने को कहा है।" बयान के अनुसार उत्तर कोरिया अंतर कोरियाई आर्थिक सहयोग के कार्यालयों को सीमावर्ती शहर केसॉन्ग में स्थित तथा उत्तर व दक्षिण कोरिया द्वारा संयुक्त रूप से संचालित औद्योगिक पार्क में दोबारा खोलना चाहता है। पिछले साल दोनों देशों के सम्बंधों में खटास आने की वजह इसे बंद कर दिया गया था। साथ ही उत्तर कोरिया में पर्यटन की बहाली के मकसद से दोनों देशों के रेड क्रॉस एसोसिएशन्स के बीच भी वार्ता शुरू करने की मांग की गई है। गौरतलब है कि वर्ष 2008 में उत्तर कोरिया के प्रतिबंधित क्षेत्र में दाखिल होने पर एक महिला पर्यटक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जिसे बाद में पर्यटन के लिए बंद कर दिया गया था। पर्यटन और औद्योगिक पार्क के शुरू होने से उत्तर कोरियावासियों के लिए रोजगार के रास्ते खुलेंगे।  पिछले साल मार्च में दक्षिण कोरिया के 46 नाविकों के मारे जाने के बाद कोरिश्याई प्रायद्वीप में व्याप्त तनाव के बीच उत्तर कोरिया ने बुधवार को पहली बार वार्ता का प्रस्ताव रखा था। दक्षिण कोरिया ने बुधवार को प्रस्ताव को ठुकरा दिया था और कहा था कि उत्तर कोरिया इसे लेकर 'गम्भीर' नहीं है और उसके इरादों पर संदेह है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com