Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

संकट के बीच लेबनान के प्रधानमंत्री साद हरीरी ने देश लौटने की घोषणा की

लेबनान के प्रधानमंत्री साद हरीरी ने कहा है कि वह बुधवार को देश के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लेबनान लौटेंगे और अपनी स्थिति स्पष्ट करेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
संकट के बीच लेबनान के प्रधानमंत्री साद हरीरी ने देश लौटने की घोषणा की

लेबनान के प्रधानमंत्री साद हरीरी की फाइल तस्वीर

पेरिस:

लेबनान के प्रधानमंत्री साद हरीरी ने कहा है कि वह बुधवार को देश के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लेबनान लौटेंगे और अपनी स्थिति स्पष्ट करेंगे. हरीरी ने सऊदी अरब में प्रधानमंत्री पद से इस्तीफे की घोषण करके लोगों को हैरत में डाल दिया था और इसके साथ ही देश में राजनीतिक संकट गहरा गया था. इस संकट को खत्म करने की कोशिश में लगे फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों से शनिवार को पेरिस में बातचीत के बाद हरीरी ने कहा कि वह अपनी स्थिति की जानकारी बेरूत लौटने के बाद देंगे. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, 'जैसा कि आप जानते हैं कि मैंने इस्तीफा दे दिया है और इस बारे में हम लेबनान में चर्चा करेंगे.' उनका कहना था कि अगला कोई भी कदम उठाने से पहले उन्हें लेबनान के राष्ट्रपति मिचेल आउन से मिलने की जरूरत है. सऊदी अरब में 4 नवंबर को उनके द्वारा अचानक इस्तीफे की घोषणा के बाद दो सप्ताह से लेबनान में अनिश्चितता की स्थिति बनी हुई है.

यह भी पढ़ें : अमेरिका की युद्ध की चेतावनी के बीच संयुक्त राष्ट्र ने लेबनान में शांति अभियान बढ़ाया


हरीरी के लेबनान वापस लौटने में विफल रहने के बाद ऐसी अफवाह थी कि रियाद में उन्हें उनकी इच्छा के विरुद्ध रखा जा रहा था. हालांकि सऊदी अरब के अधिकारियों और हरीरी ने खुद इसका खंडन किया था. पेरिस जाने से पहले उन्होंने ट्विटर पोस्ट में कहा था, 'यह कहा जाना कि सऊदी अरब में मुझे हिरासत में रखा गया था और मुझे वहां से जाने नहीं दिया जा रहा था, यह झूठ है.' प्रधानमंत्री के करीबी सूत्रों ने बताया, 'हरीरी की पत्नी और उनके बड़े बेटे हुसम मैक्रों के साथ लंच करने के दौरान प्रधानमंत्री के साथ एलीसी पैलेस में मौजूद थे, लेकिन उनके दोनों छोटे बच्चे 'अपनी परीक्षा की वजह से' सऊदी अरब में ही हैं.'

यह भी पढ़ें : अमेरिका ने लेबनान के सशस्त्र समूह हिज्बुल्ला के दो कमांडरों पर घोषित किया इनाम

टिप्पणियां

हरीरी के साथ हुए बैठक के बाद मैक्रों के कार्यालय ने कहा कि राष्ट्रपति लेबनान की स्थिरता के लिए सभी जरूरी कदम उठाएंगे. एलिसी पैलेस ने कहा, 'हम क्षेत्र में तनाव कम करने में मदद कर रहे हैं.' हालांकि पैलेस ने यह नहीं बताया है कि हरीरी ने मैक्रों से अपने इस्तीफे की पुष्टि की है या नहीं.'

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... सोनभद्र में 3000 टन सोने का भंडार मिलने पर GSI का चौंकाने वाला बयान

Advertisement