लेनिन के शव को दफनाने को लेकर सर्वेक्षण

खास बातें

  • रूस की एक राजनीतिक पार्टी ने वेबसाइट के माध्यम से लोगों से जानना चाहा है कि क्या क्रांतिकारी नेता लेनिन के शव को दफनाया जाना चाहिए?
मास्को:

रूस की एक राजनीतिक पार्टी ने वेबसाइट के माध्यम से लोगों से जानना चाहा है कि क्या रूस के क्रांतिकारी नेता व्लादिमीर लेनिन के शव को दफनाया जाना चाहिए? 21 जनवरी, 1924 को लेनिन का निधन हो गया था, लेकिन उनके शव को मास्को के रेड स्कवेयर के एक म्यूजियम में रखा गया है। रूस की क्रेमलिन यूनाइटेड रशिया पार्टी ने 'गुडबायलेनिन डॉट आरयू' नाम से एक वेबसाइट की शुरुआत की है, जिस पर लोगों से केवल एक प्रश्न किया गया है, 'क्या आप व्लादिमीर लेनिन के शव को दफनाने का समर्थन करते हैं।' वेबसाइट के मुताबिक इस प्रश्न का जवाब केवल 'हां' या 'ना' में दिया जा सकता है। इस पहल के बाद अब तक कुल 288 लोगों के संदेश आ चुके हैं। इनमें से 74 फीसदी लोगों ने लेनिन के शव को दफनाने के विचार का समर्थन किया है, जबकि 26 फीसदी इसके विरोध में हैं। उल्लेखनीय है कि क्रांतिकारी नेता लेनिन ने वर्ष 1917 में अक्टूबर क्रांति का नेतृत्व किया था। बोलशेविक्स के नेता के रूप में वह वर्ष 1917-1924 तक सोवियत गणराज्य के शीर्ष पद पर बने रहे।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com