मलेशिया एयरलाइंस को आधुनिक तकनीक से लापता विमान का पता लगने की उम्मीद

अत्याधुनिक तकनीक के जरिए ही वर्ष 2014 में लापता हुए विमान एमएच370 का पता लगना संभव

मलेशिया एयरलाइंस को आधुनिक तकनीक से लापता विमान का पता लगने की उम्मीद

मलेशिया एयरलाइंस को विश्वास है कि तकनीक से वर्ष 2014 में लापता विमान एमएच 370 को खोजा जा सकेगा.

खास बातें

  • मार्च 2014 में लापता हुए बोइंग 377 में 239 लोग सवार थे
  • पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया के दक्षिणी हिंद महासागर में चली तलाशी
  • विज्ञान में प्रगति से विमान के मलबे का पता लग सकेगा
सिडनी:

तीन साल से अधिक वक्त पहले लापता हुए मलेशिया एयरलाइंस के विमान का अब तक कोई पता नहीं चल सका है. एयरलाइंस को आशा है कि तकनीकी विकास के साथ विमान का मलबा खोजा जा सकेगा.  

मलेशिया एयरलाइंस के प्रमुख का कहना है कि लापता विमान एमएच370 का पता लगाया जा सकता है लेकिन उसके लिए आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस सहित अत्याधुनिक विज्ञान एवं तकनीक की आवश्यकता होगी.

यह भी पढ़ें - गायब हुए एमएच 370 की खोज से दुनिया के सामने आई एक नई 'अजब दुनिया'

यह भी पढ़ें- मॉरीशस में मिला पंख का टुकड़ा 239 यात्रियों के साथ लापता हुए विमान MH370 का ही

यह भी पढ़ें- लापता उड़ान एमएच 370 की खोज फिर होगी शुरू

पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया के दक्षिणी हिंद महासागर की गहराई में लंबे समय तक चली तलाश के बाद भी मार्च 2014 में लापता हुए बोइंग 377 का कुछ पता नहीं चल पाया था जिसके बाद जनवरी में इसकी तलाश बंद कर दी गई थी. विमान में 239 लोग सवार थे.

VIDEO : मलेशियाई विमान पर हमला

मलेशियाई विमानसेवा के मुख्य कार्यकारी पीटर बेल्यू ने एक ऑस्ट्रेलियाई समाचार पत्र से कहा कि ‘‘विज्ञान में प्रगति होगी, जो अंतत: विमान के मलबे का पता लगाने में मदद करेगी.’’ बेल्यू यहां एक विमानन शिखर सम्मेलन में शिरकत करने पहुंचे थे.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com