सौर हवाओं से पूरी तरह सुरक्षित है मंगल का वायुमंडल : अध्ययन

वर्तमान में मंगल ग्रह एक ठंडा और शुष्क ग्रह है जिसकी सतह पर धरती के वायुमंडलीय दवाब से एक प्रतिशत कम दवाब है.

सौर हवाओं से पूरी तरह सुरक्षित है मंगल का वायुमंडल : अध्ययन

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

लंदन:

मंगल ग्रह का वायुमंडल सौर हवाओं के प्रभावों से पूरी तरह सुरक्षित है. धरती की तरह दो चुंबकीय ध्रुवों की गैरमौजूदगी के बावजूद इस पर सौर हवाओं का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है. एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है. वर्तमान में मंगल ग्रह एक ठंडा और शुष्क ग्रह है जिसकी सतह पर धरती के वायुमंडलीय दवाब से एक प्रतिशत कम दवाब है. हालांकि ग्रह की कई भूगर्भीय विशेषताएं यह दिखाती हैं कि यहां करीब तीन से चार अरब साल पहले एक हाइड्रोलॉजिकल चक्र सक्रिय था. उस वक्त एक सक्रिय हाइड्रोलॉजिकल चक्र को ज्यादा गर्म जलवायु और एक घने वायुमंडल की जरूरत रही होगी जो एक बेहद गहरा ग्रीनहाउस प्रभाव पैदा कर सकने में सक्षम हो.

एक आम कल्पना में माना जाता है कि सौर हवाओं ने मंगल के वायुमंडल को धीरे-धीरे खत्म कर दिया और ग्रीनहाउस प्रभाव को बढ़ा दिया होगा जिससे अंतत: हाइड्रोलॉजिकल चक्र नष्ट हो गया हो.

स्वीडन की उमिया यूनिवर्सिटी के रॉबिन रैमस्टेड ने बताया कि मंगल पर धरती की तरह चुंबकीय ध्रुव नहीं होते, लेकिन सौर हवाएं ऊपरी वायुमंडल में तरंगे बनाती हैं जिससे कि यहां एक तरह का चुंबकीय क्षेत्र (इंड्यूस्ड मैग्नेटोस्फेयर) बन जाता है. उन्होंने बताया, “लंबे अर्से तक यह माना जाता रहा है कि स्वत: पैदा नहीं होने वाला यह चुंबकीय क्षेत्र मंगल के वायुमंडल को सुरक्षित रखने में पर्याप्त नहीं है.” रैमस्टेड ने कहा, “हालांकि हमारे प्रमाण कुछ और दर्शाते हैं.”

पूर्व की अवधाराणाओं के उलट यह दर्शाते हैं कि यह चुंबकीय क्षेत्र भी मंगल के वायुमंडल को सौर हवाओं के प्रभाव से सुरक्षित रखता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: मंगल ग्रह पर भी बहता है पानी, नासा को पहली बार मिले स्‍पष्‍ट संकेत

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)